मध्य प्रदेश : चुनाव जीतने के बाद किसानों के कर्जमाफी को लेकर राहुल गांधी की खुली पोल! सामने आया ये चौंकाने वाला सच…

870

Madhya Pradesh: Rahul Gandhi’s open pole on farmers’ debt waiver after winning elections (नई दिल्ली) : इस बात को हम भलीभांति जानते हैं कि हाल ही में पांच राज्यों में हुए ‘विधानसभा चुनाव’ के परिणाम बीते 11 दिसंबर को आए हैं. इस पांच राज्यों में से तीन राज्यों में कांग्रेस सबसे अधिक सीटें मिली हैं. सूत्रों की माने तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को प्रचंड बहुमत हासिल हुआ है, जबकि मध्य प्रदेश और राजस्थान में ‘कांग्रेस’ ने ‘भाजपा’ को हराया है.

मध्य प्रदेश : चुनाव जीतने के बाद किसानों के कर्जमाफी को लेकर राहुल गांधी की खुली पोल! ये है पूरी सच्चाई...

कहा जा रहा है कि राहुल गांधी की तरफ से 10 दिनों में किसानों की कर्जमाफी का भाषण गेमचेंजर साबित हुआ। राहुल के इसी भाषण के वीडियो का हिस्सा एक दूसरे वीडियो के साथ जोड़कर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। जब हमारी टीम ने इसकी पड़ताल तो सच्चाई कुछ और ही निकली। अब राहुल के कर्जमाफी वाले भाषण की सच्चाई क्या है।

कर्ज माफ़ी का बयान

किसानों के कर्जमाफी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष ‘राहुल गांधी’ के बयान को दो वीडियो को एक ही फ्रेम में लगा कर दिखाया जा रहा है. पहले वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं कि इस स्टेज के माध्यम से मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं, जिस दिन मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी उसके बाद आप 10 दिन गिनना और 10 दिन के अंदर गारंटी से कह रहा हूं कि यहां पर आपका कर्जा माफ हो जाएगा.

इसके बाद किसानों के कर्ज को माफ़ करने को लेकर वह दूसरे वीडियो में वह कह रहे हैं कि ‘मैंने अपने भाषणों में बोला कि कर्जमाफी एक सपोर्टिंग स्टेप है, कर्जमाफी सॉल्यूशन नहीं है, सॉल्यूशन ज्यादा कॉम्प्लेक्स होगा. सॉल्यूशन किसानों को सपोर्ट करने का होगा. इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने का होगा.

मध्य प्रदेश : चुनाव जीतने के बाद किसानों के कर्जमाफी को लेकर राहुल गांधी की खुली पोल! ये है पूरी सच्चाई...

विडियो को लेकर जांच पड़ताल

आपको याद दिला दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने कई रैलियों में ‘किसानों’ का कर्जा माफ करने का भाषण दिया था तो अब हमारा शक 11 दिसंबर को दिए गए वीडियो पर गया और हमने उसे पूरा सुनने का फैसला किया. इस वीडियो में दिखाया गया है कि राहुल गांधी से पूछा गया कि कर्जमाफी की ऐलान कब किया जाएगा? इस बात का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जैसे ही हमारी सरकार बनेगी, किसानों की कर्जमाफी का प्रॉसेस शुरू हो जाएगा.

यह भी पढ़े : PM मोदी को लेकर स्मृति ईरानी ने राहुल समेत कांग्रेस पर किया पलटवार!

अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि पहला विडियो कहां से आया है, इसलिए इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को आगे सुनने का फैसला किया गया. हालांकि यह एक दूसरे सवाल का जवाब है जिसको काटकर किसानों के कर्जमाफ़ी के लिए इस्तेमाल किया गया है.

मध्य प्रदेश : चुनाव जीतने के बाद किसानों के कर्जमाफी को लेकर राहुल गांधी की खुली पोल! ये है पूरी सच्चाई...

जब उनसे सवाल किया गया कि आप लोग बार-बार कहते हैं कि साल 2009 में ‘यूपीए’ के सर्कार आने के किसानों के कर्ज माफी का बड़ा रोल रहा है. क्या 2019 में कांग्रेस एक बार फिर से कर्जमाफी का वादा लेकर चुनावों में जाएगी? इस बात का जवाब देते राहुल गाँधी ने कहा कि ‘नहीं देखिए, मैंने अपने भाषणों में बोला कि कर्जमाफी सपोर्टिंग स्टेप है लेकिन सॉल्यूशन नहीं है.. सॉल्यूशन ज्यादा कॉम्प्लेक्स होगा। सॉल्यूशन किसानों को सपोर्ट करने का होगा, इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने का होगा। टेक्नोलॉजी देने का होगा और सॉल्यूशन फ्रेंकली मैं बोलूं.. सॉल्यूशन चैलेंजिंग चीज है और हम उसको करके दिखाएंगे..वट वो उसमें किसानों के साथ हमें काम करना पड़ेगा और देश की जनता के साथ करना पडेगा और हम करेंगे.

loading...