आयुष्मान भारत योजना को लेकर ममता बनर्जी ने दी ये धमकी! कहा- पोस्ट ऑफिस को तुरंत ही…

203

Mamata Banerjee threatened Ayushman Bharat scheme! Said – stop the post office immediately (पश्चिम बंगाल) : अभी-अभी ‘पश्चिम बंगाल’ की मुख्यमंत्री ‘ममता बनर्जी’ ने पोस्ट ऑफिस को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है. जिसके बाद राज्य समेत देशभर में हलचल पैदा हो गई है. सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री ममता ने कहा है कि केंद्र की ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत आने वाले पत्रों की डिलीवरी तुरंत बंद की गई तो पोस्ट ऑफिस को बंद कर दिया जाएगा.

आयुष्मान भारत योजना को लेकर ममता बनर्जी ने दी ये धमकी! कहा- पोस्ट ऑफिस को तुरंत ही...
ममता बनर्जी

ध्यान देने वाली बात यह है कि तृणमूल कांग्रेस के विधायक और नदिया जिले के पार्टी प्रमुख ‘गौरीशंकर दत्त’ ने नदिया के हेड पोस्ट आफिस में तैनात पोस्टमास्टर ‘प्रबोध बाग’ को यह धमकी दी है. इसके अलावा शनिवार 12 जनवरी को तृणमूल कांग्रेस के करीब दो सौ समर्थकों ने पोस्ट ऑफिस को चारों तरफ से घेर लिया था और नारे लगाए थे.

यह भी पढ़े : लोकसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी को लगा अब तक सबसे जोरदार झटका!

सूत्रों की माने तो विधायक दत्त ने पोस्टमास्टर से कहा है कि प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ के पत्रों की डिलीवरी के लिए क्या वे ‘भाजपा’ के विस्तारित दफ्तर के कर्मचारी के तौर पर काम कर रहे हैं?

आयुष्मान भारत योजना को लेकर ममता बनर्जी ने दी ये धमकी! कहा- पोस्ट ऑफिस को तुरंत ही...
नरेंद्र मोदी

इसके आगे विधायक दत्त ने कहा है कि अगर तुरंत ही इन पत्रों की डिलीवरी पर रोक नहीं लगाई गई तो पोस्ट ऑफिस के तमाम कर्मचारियों को भाजपा कार्यकर्ता मान लिया जाएगा. अन्यथा इस स्थिति को देखते हुए यहां पोस्ट ऑफिस पर ताला लगा दिया जाएगा.  

तृणमूल कांग्रेस के विधायक ‘गौरीशंकर दत्त’ बाग ने यह भी कहा है कि पत्रों की डिलीवरी उनकी नौकरी का हिस्सा है. वह ये सभी पत्र चाहे कहीं से भी आए हों, परंतु उनकी सफाई से तृणमूल कांग्रेस वाले संतुष्ट नहीं हुए. वहीं पोस्टमास्टर प्रबोध बाग का कहना है कि उन्होंने इस मामले की जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को दे दी है.

आयुष्मान भारत योजना को लेकर ममता बनर्जी ने दी ये धमकी! कहा- पोस्ट ऑफिस को तुरंत ही...
गौरीशंकर दत्त

सूत्रों की माने तो हाल ही में मुख्यमंत्री ममता ने बंगाल को आयुष्मान भारत योजना से अलग करने की घोषणा करते हुए कहा है कि इस योजना में केंद्र व राज्य दोनों के पैसे बर्बाद होते हैं. परंतु इस कार्य का ‘केंद्र सरकार’ अकेले ही सारा श्रेय लेने की कोशिश कर रही है. ममता के अनुसार राज्य सरकार की तरफ से शुरू की गई ‘स्वास्थ्य साथी योजना’ इससे बेहतर है.

loading...