मोदी राज में पाकिस्तान को छोड़े जा रहे पानी को लेकर लिया ये बड़ा फैसला! जिसके बाद पाकिस्तान में मचा हाहाकार…

93

Modi Government takes big decision on water being left out of Pakistan (फिरोजपुर) : आखिरकार ‘भारत’ ने ‘पाकिस्‍तान’ के खिलाफ बड़ा फैसला ले ही लिया है. जिसके बाद पाकिस्तान में हडकंप मचा हुआ है. शुक्रवार 14 जून को ‘हुसैनीवाला हेड’ से पाकिस्‍तान को जा रहे ‘सतलुज नदी’ के पानी की मात्रा घटा दी गई है और यह पानी अब हेड से निकलने वाली बीकानेर व ईस्टन कैनाल में छोड़ा जा रहा है. पहले पाकिस्तान को 14 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा था, जो वह शुक्रवार को घटकर आठ हजार क्यूसिक रह गया.

मोदी राज में पाकिस्तान को छोड़े जा रहे पानी को लेकर बड़ा फैसला! जिसके बाद पाकिस्तान में मचा हाहाकार...

सूत्रों की माने तो कई नेताओं व पार्टियों ने पाकिस्तान को छोड़े जा रहे ‘सतलुज नदी’ के पानी पर सवाल उठाया था. इस मामले को लेकर ‘सुखपाल सिंह खैहरा’ ने भी ‘पंजाब सरकार’ पर निशाना साधा था. जिसके बाद गुरुवार 14 जून को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन ‘अमरिंदर सिंह’ ने कहा कि बाढ़ के खतरे से बचने के लिए पाकिस्तान का पानी छोड़ा जा रहा है. ऐसा करने से पंजाब में सतलुज नदी और ‘व्यास नदी’ के आसपास के इलाकों को बाढ़ से बचाया जा सकेगा. ऐसे में अब ‘हुसैनीवाला हेड’ से निकलने वाली दोनों नहरें चालू हो गई है, तो अधिकारियों की तरफ से राहत की सांस ली गई है. बताया जा रहा है कि अब विपक्षी दलों के पास यह मामला खत्म हो गया है कि हमारी नहरें सूखी है और पाकिस्तान को पानी छोड़ा जा रहा है.

हुसैनीवाला हेड से निकलने वाली ‘बीकानेर नहर’ राजस्थान के बीकानेर तक जाती है. आपको याद हो कि पहले इस नहर को राजस्थान की प्यास बुझाने वाली नहर के नाम से भी जाना जाता था, परंतु कुछ सालों से ‘राजस्थान सरकार’ द्वारा इस नहर को अधिक महत्‍व व ध्‍यान नहीं दिया गया, जितनी प्रमुखता ‘हरिके हेड’ से निकलने वाली राजस्थान नहर को दी जा रही है.

मोदी राज में पाकिस्तान को छोड़े जा रहे पानी को लेकर बड़ा फैसला! जिसके बाद पाकिस्तान में मचा हाहाकार...

ध्यान देने वाली बात यह है कि पंजाब व राजस्थान सरकारों के कारण ही ‘बीकानेर नहर’ की हालत बद्दतर हो रही है. नहर पर मरम्मत कार्य न होने की वजह से यह अपनी क्षमता के अनुरूप पानी का प्रवाह नहीं कर पाती है. दरअसल अब भी इसका पानी बीकानेर तक पहुंचता है. आपको बता दें कि हुसैनीवाला हेड से बीकानेर तक रास्ते में पड़ने वाले खेतों को इसी से ही पानी मिलता है. 

यह भी पढ़े : मसूद अजहर के बाद भारत अब पाकिस्तान के खिलाफ लेने जा रहा है ये ताबड़तोड़ एक्शन!

सूत्रों की माने तो नहरी विभाग द्वारा बीकानेर नहर में अब केवल दो हजार क्यूसिक पानी इसमें छोड़ा जा रहा है. जबकि उसके साथ चलने वाली ईस्टन नहर को विभाग द्वारा अनुपयोगी बताते हुए बंद कर दिया गया था, परन्तु अब भी उसमें भी नहरी विभाग द्वारा फिरोजपुर के किसानों व पशु-पक्षियों के लिए एक हजार क्यूसिक के लगभग पानी छोड़ा जाता है. आपको बता दें कि आज के समय में दोनों नहरों में पानी छोड़े जाने से पंजाब से लेकर राजस्थान तक के लोगों ने राहत की सांस ली है.

मोदी राज में पाकिस्तान को छोड़े जा रहे पानी को लेकर बड़ा फैसला! जिसके बाद पाकिस्तान में मचा हाहाकार...

हुसैनीवाला हेड के एक्सईन ‘जगतार सिंह’ ने जानकारी देते हुए कहा कि फ़िलहाल दोनों नहरों में पानी छोड़ दिया गया है, नहरों में पानी छोड़े जाने से पाकिस्तान की ओर छोड़े जा रहे पानी की मात्रा भी कमी आई है. शुक्रवार 14 जून को केवल 8000 क्यूसिक पानी पाकिस्तान को छोड़ा गया.

loading...