UP रामराज्य की ओर! योगी सरकार ने कर डाला ऐसा शानदार ऐलान, जिसके बाद खुशी से झूम उठे हिंदू

188

11 जनवरी, 2018 – बड़े-बड़े फैसलों के लिए पहचानी जाने वाली योगी सरकार ने एक और बेहद शानदार फैसला लिया है, जिसके बाद देश में ख़ुशी लहर है.

UP रामराज्य की ओर! योगी सरकार ने कर डाला ऐसा शानदार ऐलान, जिसके बाद खुशी से झूम उठे हिंदूUP रामराज्य की ओर! योगी सरकार ने कर डाला ऐसा शानदार ऐलान, जिसके बाद खुशी से झूम उठे हिंदू
योगी आदित्यनाथ : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद हिंदुत्व को सही मायने में सम्मान मिला है. यही कारण है कि आज यूपी में हर तरफ भगवा छा रहा है. देश की पहचान राम, हनुमान के नाम से है न कि इस्लामिक दरिंदे अकबर, औरंगजेब के नाम से. देश में अभी भी ऐसे कई स्थान हैं जो कि ऐसे क्रूर इस्लामिक दरिंदों के नाम पर रखे गए हैं. लेकिन धीरे-धीरे उत्तर प्रदेश से ऐसे नामों का सफाया हो रहा है. राम जन्मभूमि अयोध्या के निकट सुल्तानपुरी नगरी को योगी सरकार ने फिर से रामायण के भव्य अतीत के साथ मिलाने की कोशिश की है. अब जल्द ही सुल्तानपुरी नगरी का नाम हटाकर कुशभवनपुर कर दिया जायेगा. यह नाम प्रभु श्रीराम के पुत्र कुश के नाम पर रखा जायेगा.

इससे पहले योगी सरकार के प्रयास से मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदला जा चुका है और इसके बाद सुल्तानपुर नाम बदलने की क्रिया पर भी चर्चा हो रही है. यहाँ की नगरपालिका के प्रमुख ने बोर्ड में जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर का अजेंडा पास करा लिया है. चेयरमैन बबिता जायसवाल ने प्रभु राम से जुड़े इस भव्य नाम कुशभवनपुर को बोर्ड की पहली बैठक में पास करा लिया है और इसलिए तेजी से कदम उठाया है.

UP रामराज्य की ओर! योगी सरकार ने कर डाला ऐसा शानदार ऐलान, जिसके बाद खुशी से झूम उठे हिंदू

इस नाम की मंजूरी के बाद चेयरमैन ने सभी सभासदों का आभार जताया और कहा कि कुशभवनपुर के शानदार आगाज के साथ दमदार तरीके से परोपकारी की जाएगी. इस मौके पर भाजपा के प्रवक्ता विजय सिंह रघुवंशी ने कहा कि नगरपालिका अध्यक्ष बबिता जायसवाल ने शपथ ग्रहण करने से पहले भगवान की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके आशीर्वाद लिया था. इसके बाद शपथ ग्रहण समारोह में आकर साबित कर दिया कि कुशभवनपुर उनके लिए सम्मान का प्रतीक है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योगी सरकार में प्रदेश के अन्दर मुगल सराय रेलवे स्टेशन के नाम हटाकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय नाम रखा गया था. उसी समय से इस जिले का नाम बदलने की भी चर्चा शुरू हो चुकी थी. कहा जाता है कि अयोध्या के निकट सुल्तानपुर जिले को प्रभु श्रीराम के पुत्र कुश द्वारा स्थापित किया गया था, इसीलिए इस स्थान को कुशभवनपुर के नाम से पहचाना जाता है. सीताजी यहीं पर ठहरीं थी, और यहाँ स्थित सीताकुंड घाट इस बात का प्रमाण है.  

loading...