मायावती के बयान को लेकर अखिलेश ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कह डाली ये बड़ी बात!

191

On the statement of Mayawati, Akhilesh advised to Congress, this big thing (लखनऊ) : अभी-अभी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ‘अखिलेश यादव’ ने बसपा सुप्रीमो मायावती के सम्मानजनक सीट मिलने पर ही गठबंधन करने की घोषणा को लेकर सधी हुई टिप्पणी करते हुए कहा है कि हमारा एजेंडा देश को बचाना है, उसके लिए गठबंधन करेंगे. चाहे हमें दो कदम पीछे क्यों न हटना पड़े.

मायावती के बयान को लेकर अखिलेश ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कह डाली ये बड़ी बात!
अखिलेश यादव और मायावती

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि ‘कांग्रेस’ को बड़ा दिल दिखाते हुए सभी विपक्षी दलों से बात करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए पूरे विपक्ष को साथ आना होगा. उन्होंने कहा है कि हमारी कोई मजबूरी नहीं है, परंतु हम चाहते हैं कि सांप्रदायिक ताकतों को रोका जाए. कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है, उसकी जिम्मेदारी है कि सभी को साथ लेकर चले औऱ महागठबंधन को मजबूत बनाए. गठबंधन का नेता और प्रधानमंत्री चुनाव के बाद तय हो जाएगा.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यक्रम में बुलाए जाने के सवाल को लेकर अखिलेश ने कहा है कि केवल समाजवादी पार्टी को ही नहीं, बल्कि देश को बचाने के लिए सभी को आरएसएस से दूर रहना होगा. ‘भाजपा’ और आरएसएस ने यह एहसास दिलाया कि मैं बैकवर्ड हूं. संघ को समाजवादी ही टक्कर देंगे. इसके आगे अखिलेश ने कहा है कि कांग्रेस को गठबंधन जरुर बनाना चाहिए.

मायावती के बयान को लेकर अखिलेश ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कह डाली ये बड़ी बात!
राहुल गांधी

यह कांग्रेस की जिम्मेदारी है कि वह सभी दलों को साथ लेकर चले. गठबंधन के नेतृत्व के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि वह चुनाव के बाद देखा जाएगा. ‘उमर खालिद, कन्हैया कुमार’ जैसे नौजवान नेताओं की भूमिका को लेकर अखिलेश ने कहा है कि सपा में जो भी आने चाहे, हम उन्हें स्वीकार करेंगे. 

Read Also : इस वरिष्ठ नेता ने पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस की खोली पोल!

साथ ही अखिलेश यादव ने कहा है कि हमारी लड़ाई भाजपा से है, परंतु उससे भी बड़ी लड़ाई सामने न दिखाई देने वाली ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ (आरएसएस) से है. संघ की विचारधारा से समाजवादी विचारधारा ही लड़ सकती है. आगे अकिलेश ने कहा है कि जिस आरएसएस ने 70 सालों तक अपने नागपुर मुख्यालय पर तिरंगा न फहराया हो, उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता.

मायावती के बयान को लेकर अखिलेश ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कह डाली ये बड़ी बात!
(आरएसएस)

पिछले चुनाव को लेकर उन्होंने कहा है कि आरएसएस ने चुनाव में सपा के खिलाफ नफरत और झूठ फैलाने का काम किया. इससे सभी को सावधान रहना चाहिए. इसके आगे अखिलेश ने कहा है कि गठबंधन के लिए हमने कांग्रेस से पहल करने को कहा है क्योंकि वह राष्ट्रीय पार्टी है. उसे बड़ा दिल दिखाना चाहिए.

अखिलेश यादव ने भाजपा अध्यक्ष ‘अमित शाह’ पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन्होंने 50 साल सत्ता में रहने के दावे पर कटाक्ष किया. साथ ही कहा है कि जनता में गुस्सा है, भाजपा के प्रति निराशा है इसलिए भाजपा को हार का सामना करना पड़ेगा.

अगर उत्तर प्रदेश में भाजपा हारती है तो यह देश की सत्ता में वापस नहीं आएगी. जिन्होंने 50 साल तक सत्ता में रहने की बात कही है, पता नही तब तक वे रहेंगे या नहीं, परंतु यह तय है कि देश की जनता अगले 50 हफ्तों में अपना फैसला सुनाने जा रही है.

मायावती के बयान को लेकर अखिलेश ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कह डाली ये बड़ी बात!
अमित शाह

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आगे कहा है कि देश में चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए. ईवीएम की विश्वसनीयता पर उंगली उठी है. ‘चुनाव आयोग’ को निष्पक्षता से कार्य करना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा है कि इस बार चुनाव में किसान, बेरोजगारी, मंहगाई के मामलो को लेकर भाजपा को ध्यान नहीं हटाने देंगे.

loading...