भाजपा के दोबारा से सत्ता में आने के बाद थर-थर कांपा पाकिस्तान! इमरान खान ने पीएम मोदी की चिट्ठी लिखकर की ये बड़ी अपील…

128

Pakistan has shaken the BJP from coming to power again! Imran Khan made this big appeal by writing a letter to PM Modi (इस्लामाबाद) : “लोकसभा चुनाव” में जीत के बाद ‘भाजपा’ के फिर से सत्ता में आने से पाकिस्तान घबराया हुआ है. पाकिस्तान का यह डर साफ देखा जा सकता है. सूत्रों की माने तो ‘पाकिस्तान’ के प्रधानमंत्री ‘इमरान खान’ ने भारत के साथ मिलकर काम करनेे की बात कही है.

भाजपा के दोबारा से सत्ता में आने के बाद थर-थर कांपा पाकिस्तान! इमरान खान ने पीएम मोदी की चिट्ठी लिखकर की ये बड़ी अपील...

ध्यान देने वाली बात यह है कि इमरान खान ने प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ को चिट्ठी लिख साथ मिलकर काम करने की इच्छा जाहिर करते हुए कश्मीर समेत अहम मसलों पर बातचीत की पेशकश की है.

इस चिट्ठी के माध्यम से उन्होंने नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी है. साथ ही अपनी चिट्ठी में दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच बातचीत की पेशकश करते हुए सभी जरूरी मसलों समेत कश्मीर के मुद्दे को हल करने की बात कही है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत ही एकमात्र उपाय है, इससे से ही दोनों देशों के लोगों की गरीबी समाप्त हो सके. इमरान खान ने यह भी कहा कि क्षेत्रीय विकास के लिए मिलकर काम करना काफी महत्वपूर्ण है. 

भाजपा के दोबारा से सत्ता में आने के बाद थर-थर कांपा पाकिस्तान! इमरान खान ने पीएम मोदी की चिट्ठी लिखकर की ये बड़ी अपील...

दूसरी तरफ गुरुवार 6 जून को विदेश मंत्रालय ने साफ करते हुए कहा कि बिश्केक में होने वाले ‘शंघाई सहयोग संगठन’ की बैठक के दौरान पीएम मोदी और इमरान खान के बीच कोई बातचीत नहीं होगी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ‘रवीश कुमार’ ने कहा कि शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में पीएम मोदी और इमरान खान के बीच कोई बैठक की कई व्यवस्था नहीं की जा रही है.

यह भी पढ़े : पाक सेना के रक्षा बजट में की गई कटौती को लेकर भारतीय मीडिया द्वारा चलाई गई खबर से बौखला गया पाकिस्तान…

सूत्रों की माने तो इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री ‘शाह महमूद कुरैशी’ ने अपने भारतीय समकक्ष ‘एस जयशंकर’ को चिट्ठी लिखकर नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी.

भाजपा के दोबारा से सत्ता में आने के बाद थर-थर कांपा पाकिस्तान! इमरान खान ने पीएम मोदी की चिट्ठी लिखकर की ये बड़ी अपील...

इस बीच कुरैशी ने सभी महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर बातचीत की इच्छा जताई है और क्षेत्र में शांति बनाए रखने की कोशिशों के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की है. जयशंकर के विदेश मंत्री बनने के बाद पाकिस्तान की तरफ से वार्ता शुरू करने की दिशा में यह पहला औपचारिक प्रयास माना जा रहा है.

loading...