शिरडी को लेकर किये गये अपने ही ट्विट के बाद फंसे राहुल गांधी! शिरडी के चेयरमैन ने उठाई मांफी की मांग

142

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष ‘राहुल गांधी’ एक बार फिर से अपने बनाए जाल में फंस गये हैं. जानकारी के अनुसार पता चला है कि राहुल ने ‘शिरडी’ को लेकर ट्वीट किया, जिसके बाद बवाल खड़ा हो गया है. खबर मिली है कि बुधवार  (11 अप्रैल) को शिरडी के साईंबाबा के चमत्कारों के बहाना लेकर भाजपा पर निशाना साधा. जानकारी के अनुसार राहुल ने केंद्रीय मंत्री ‘पीयूष गोयल’ पर निशाना साधा और अब राहुल के निशाने को लेकर कांग्रेस को भारी पड़ने लगा है।

शिरडी को लेकर किये गये अपने ही ट्विट के बाद फंसे राहुल गांधी! शिरडी के चेयरमैन ने उठाई मांफी की मांग
राहुल गांधी

सूत्रों से जानकारी के अनुसार पता चला है कि राहुल गांधी ने शिरडी को लेकर ट्वीट करते हुए कहा है कि मित्रों शिरडी के चमत्कारों की तो कोई सीमा ही नहीं. इसके अलावा राहुल ने ट्विट में पीयूष घोटाला रिटर्न्स भी लिखा है. उनके इस ट्वीट को लेकर ‘महाराष्ट्र’ में ‘अहमदनगर’ जिले के शिरडी में ‘श्री साईंबाबा’ संस्थान ट्रस्ट के चेयरमैन डॉक्टर ‘सुरेश हवारे’ ने राहुल के इस ट्विट का करारा प्रहार करते हुए जवाब दिया है. 

शिरडी को लेकर किये गये अपने ही ट्विट के बाद फंसे राहुल गांधी! शिरडी के चेयरमैन ने उठाई मांफी की मांग
सुरेश हवारे

जानकारी के अनुसार ‘सुरेश हवारे’ ने राहुल के ट्विट के बाद एक ट्विट करते हुए कहा है कि राहुल जी राजनैतिक आरोप-प्रत्यारोप के बीच ‘शिरडी’ को बीच में बहुत ही दुखद है. इस तरह के बयान ने देश-विदेश के साईं श्रद्धयालुओं को ठेस पहुंचती है. सभी साईं भक्तों की तरफ से हम इसकी निंदा करते हैं. साथ ही हवारे ने कहा है साईं का अपमान करने के लिए आपको साईं भक्तों से माफी मांगनी चाहिए.

हालांकि राहुल गांधी ने शिरडी इंडस्ट्रीज को लेकर ट्वीट किया है. सूत्रों से जानकारी के अनुसार कांग्रेस नेताओं का ने आरोप लगाते हुए कहा है कि 25 अप्रैल 2008 से 1 जुलाई 2010 तक ‘पीयूष गोयल’ इस कंपनी के अध्यक्ष और पूर्णकालिक निदेशक रहे थे. इस कालावधि में कंपनी ने यूनियन बैंक की अध्यक्षता वाले बैंकों से 258.62 करोड़ लोन लिया था.

शिरडी को लेकर किये गये अपने ही ट्विट के बाद फंसे राहुल गांधी! शिरडी के चेयरमैन ने उठाई मांफी की मांग
पीयूष गोयल

जानकारी के अनुसार पीयूष गोयल ने बाद में कंपनी के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था. उसके बाद केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद 651.87 करोड़ के बकाया लोन में से 65 प्रतिशत के बैंकों के कंसोर्टियम ने बिना किसी दिक्कत के माफ़ कर दिया था. राहुल के इस ट्विट को लेकर पीयूष गोयल ने बयान देते हुए कहा है कि इस मामले में उनकी कोई भी गलती या नियम के खिलाफ नहीं है. 

Loading...