सीपीईसी को लेकर शी जिनपिंग ने जताई चिंता! कहा- पीओके से गुजरने को लेकर चिंतित हैं हम

139

पीओके : अभी-अभी चीन से हैरान कर देने वाली खबर आई है, जिसके बाद चीनी राष्ट्रपति बहुत परेशान दिखाई दे रहे हैं. जानकारी के अनुसार पता चला है कि मंगलवार (10 मार्च) को बोआओ में आयोजित बोआओ फॉरम फॉर एशिया (बीएफए) को संबोधित करते हुए चीनी राष्ट्रपति ‘शी जिनपिंग’ ने ‘चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा’ (सीपीईसी) के पाकिस्तान के कब्जे वाले ‘पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर’ (पीओके) से गुजरने को लेकर चिंता जाहिर की है. 

सीपीईसी को लेकर शी जिनपिंग ने जताई चिंता! कहा- पीओके से गुजरने को लेकर चिंतित हैं हम
शी जिनपिंग

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिनपिंग ने अपनी महत्वाकांक्षी ‘बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव’ (बीआरआई) परियोजना का एकतरफा बचाव करते हुए कहा है कि इससे हमारा मकसद भू-राजनीतिक हित साधना नहीं है, परंतु हम पीओके जैसे विवादित इलाके में परियोजना को लेकर चिंतित हैं.

सीपीईसी को लेकर शी जिनपिंग ने जताई चिंता! कहा- पीओके से गुजरने को लेकर चिंतित हैं हम
बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई)

जानकारी के अनुसार ‘भारत-चीन’ रिश्तों में बीआरआई एक बड़ी बाधा बन चुकी है क्योंकि सीपीईसी को इसमें प्रमुख परियोजना के रूप में दिखाया गया है. खबर मिली है कि भारत सीपीईसी के विरुद्ध है क्योंकि इसका एक बड़ा हिस्सा पीओके से होकर जाता है. साथ ही जिनपिंग ने कहा है कि बीआरआई भले ही चीन का आइडिया हो परंतु चीन इसकी मदद से अवसर और परिणाम पूरी दुनिया को लाभ पहुंचाएंगे.

सीपीईसी को लेकर शी जिनपिंग ने जताई चिंता! कहा- पीओके से गुजरने को लेकर चिंतित हैं हम
शी जिनपिंग और नरेंद्र मोदी

जब चीनी राष्ट्रपति से सवाल किया कि क्या इस परियोजना का मकसद चीन का प्रभुत्व बढ़ाना है तो इस सवाल का जवाब देते हुए जिनपिंग ने कहा है कि चीन न ही इसमें कोई अवरोध चाहता है और न अन्य देशों पर बिजनेस डील थोप रहा है.

Loading...