‘सपा-बसपा गठबंधन’ में आई दरार! बसपा के हित के लिए मायावती ने लिया ये चौंकाने वाला फैसला…

14

SP-BSP coalition cracks! Mayawati takes this shocking decision for the interest of BSP (उत्तर प्रदेश) : “सपा-बसपा गठबंधन” को लेकर एक बड़ी खबर आई है. जैसा कि आप जानते हैं ‘लोकसभा चुनाव’ में करारी शिकस्त मिलने के बाद बसपा और सपा के बीच सियासी तकरार लगातार बढ़ती जा रही है. इसी बीच बसपा सुप्रीमो ‘मायावती’ ने एक बार फिर से सपा पर हमला किया.

सैप-बसपा गठबंधन में आई दरार! बसपा के हित के लिए मायावती ने लिया ये चौंकाने वाला फैसला...

उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा कि ‘सपा सरकार में दलित विरोधी फैसले हुए. लोकसभा में सपा का व्यावहार अच्छा नहीं था.’  वर्ष 2012-17 में ‘सपा सरकार’ के दलित विरोधी फैसलों को दरकिनार करके देश व जनहित में सपा के साथ गठबंधन धर्म को पूरी तरह से निभाया. इसके आगे उन्होंने कहा कि बसपा भविष्य में आने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव पार्टी अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी.

यह भी पढ़े : लोकसभा चुनाव से पहले सपा-बसपा गठबंधन को लगा ऐसा जोरदार झटका कि दोनों पार्टियों में मचा हडकंप…

ध्यान देने वाली बात यह है कि सपा के साथ सभी पुराने गिले-शिकवों को भुलाने के साथ-साथ सन् 2012-17 में सपा सरकार के बसपा व दलित विरोधी फैसलों, प्रमोशन में आरक्षण विरूद्ध कार्यों एवं बिगड़ी कानून व्यवस्था आदि को दरकिनार करके देश व जनहित में सपा के साथ गठबंधन धर्म को पूरी तरह से निभाया.

सैप-बसपा गठबंधन में आई दरार! बसपा के हित के लिए मायावती ने लिया ये चौंकाने वाला फैसला...

सूत्रों की माने तो लोकसभा चुनाव के बाद सपा के लगातार व्यवहार के कारण बसपा को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि क्या ऐसा करके भविष्य में भाजपा हराना संभव होगा? जो बिल्कुल संभव नहीं है. जिसकी वजह से बसपा ने पार्टी के हित के लिए आगामी सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी.

loading...