दिल्ली की छात्रा ने दिल्ली को बताया पाकिस्तान की राजधानी! कारण जानकर आप भी चौंक जायेंगे

583

30 अक्टूबर, 2017 – दिल्ली से एक ऐसा मामला सामने आया है जिस पर पूरा देश सोचने को मजबूर हो गया है. दिल्ली की छात्र ने पाक की राजधानी को दिल्ली बताया और इसका कारण भी बताया.

दिल्ली की छात्रा ने दिल्ली को बताया पाकिस्तान की राजधानी! कारण जानकर आप भी चौंक जायेंगे

सोशल स्टडीज की क्लास चल रही थी तभी शिक्षक ने छात्रों से प्रश्न किया कि..

बच्चों! “पाकिस्तान कि राजधानी” कहा है ? एक छात्रा ने जवाब देते हुए कहा  ‘दिल्ली’. इसके बाद टीचर ने चौंकते हुए बोला कि ‘ये क्या बोल रही हो, पाकिस्तान की राजधानी दिल्ली कैसे ?’  इसके बाद छात्र ने जो जवाब दिया उससे टीचर भी दांग रह गए.

छात्रा ने जवाब देते हुए कहा ‘जब आप, ” अगर कभी भारत की राजधानी दिल्ली” में घूमने आएँ तो तब आपआप “शाहजहां” रोड़ से निकलकर, “अकबर” रोड़ पर पहुँच जायेंगे.

थोड़ी आगे जाकर, “बाबर” रोड़ पर मुड़ जायेंगे.  फिर “हुमायूं” रोड़ पर सीधे चले जाइयेगा. गोल चक्कर मिलेगा, जहाँ से आप, “तुगलक” लेन में घुस जायेंगे, “लोधी” रोड़ पर आगे बढिये तो “सफदरजंग” रोड आ जाएगी. इसके बाद,”तुगलकाबाद” एवं “जामिया नगर”होते हुए “कुतुबमीनार” तक जाइए.

दिल्ली की छात्रा ने दिल्ली को बताया पाकिस्तान की राजधानी! कारण जानकर आप भी चौंक जायेंगे

इसके बाद फिर  जब इस “सूफियाने माहौल’ में दम घुटने लगे तो “सराय कालेखाँ” होते हुए “निजामुद्दीन” रेलवे स्टेशन से अपने शहर की रेलगाड़ी में बैठिए और घर वापस आ जाइये व घर बैठकर सोचते रहिये कि “दिल्ली” “भारत की राजधानी” है या “पाकिस्तान” की?”

हमने सभी शूरवीरों जैसे महारारणा प्रताप ना वीर शिवाजी ना बाबू राजेंद्र प्रसाद ना वीर कुँअर सिंह और ना ही लक्ष्मी बाई आदि को लगभग भुला दिया है. ये कांग्रेस की नहीं तो किसकी देन है?? क्या ये सही नहीं कि हम 65/70 साल से सो रहे हैं. वैसे 2014 में मोदी सरकार आने के बाद से दिल्ली में औरंगजेब नाम की सड़क को हटा दिया गया, तो इस पर ये कांग्रेस कितना चिढ़ी थी इसे भी मत भूलिए. देश के सच्चे शूरवीरों को सम्मान मिलना चाहिए न कि देश के लुटेरों को.

loading...