राहुल द्वारा पीएम मोदी और आडवाणी को लेकर दिए गए विवादित बयान ने बाद सुषमा स्वराज ने किया ये जबरदस्त पलटवार…

55

The disputed statement given by Rahul to PM Modi and Advani was followed by Sushma Swaraj’s tremendous reversal (नई दिल्ली) : जैसा कि आप जानते हैं ‘लोकसभा चुनाव’ का दौरान धीरे-धीरे नजदीक आ रहा है. ऐसे ही सभी राजनितिक पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगा रही हैं. आपको याद दिला दें कि शुक्रवार 5 मार्च को कांग्रेस अध्यक्ष ‘राहुल गांधी’ ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद ‘लाल कृष्ण आडवाणी’ को लेकर विवादित बयान दिया था.

राहुल द्वारा पीएम मोदी और आडवाणी को लेकर दिए गए विवादित बयान ने बाद सुषमा स्वराज ने किया ये जबरदस्त पलटवार...
राहुल गांधी

महाराष्ट्र के चंद्रपुर की रैली में राहुल ने कहा था कि मोदीजी अपने गुरु के आगे हाथ तक नहीं जोड़ते हैं. राहुल गांधी के इस बयान पर केंद्रीय विदेश मंत्री ‘सुषमा स्वराज’ ने जोरदार पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि राहुल को अपनी भाषा को मार्यादा में रखनि चाहिए. 

सुषमा स्वराज ने ट्विटर करते हुए लिखा है कि ‘राहुलजी, अडवाणीजी हमारे पिता तुल्य हैं. आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है. कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें.’ 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने कहा था कि ‘पीएम मोदी हिंदू धर्म की बात करते हैं, परंतु हिन्दू धर्म में सबसे महत्वपूर्ण गुरु होता है और प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ अपने गुरु आडवाणी के सामने हाथ तक नहीं जोड़ते. हिन्दू धर्म में सबसे बड़ी चीज गुरु-शिष्य का रिश्ता होता है. आप बताइए इससे बड़ी कोई चीज है. आडवाणीजी की आज क्या हालत है?’

राहुल द्वारा पीएम मोदी और आडवाणी को लेकर दिए गए विवादित बयान ने बाद सुषमा स्वराज ने किया ये जबरदस्त पलटवार...
सुषमा स्वराज

आडवाणी और पीएम ‘नरेंद्र मोदी’ को लेकर विवादित टिप्पणी करते हुए राहुल ने कहा कि ‘स्टेज से उठाकर… गुरु को (कुछ शब्द आपत्तिजनक होने की वजह से हम नहीं लिख रहे हैं) स्टेज से उतारा है आडवाणी जी को और फिर हिंदू धर्म की बात करते हैं। हिंदू धर्म में कहां लिखा है कि हिंसा करनी चाहिए.’

इसके आगे राहुल ने कहा कि ‘आगामी लोकसभा चुनाव में चुनावी विचारधाराओं की लड़ाई है. कांग्रेस की विचारधारा भाईचारा और प्रेम वाली है. हम मोदी की नफरत, क्रोध और विभाजनकारी विचारधारा पर जीत हासिल करेंगे. आपने सुना मैं प्यार से बोलता हूं, मेरे भाषण में नफरत नहीं सुनाई देगी.

यह भी पढ़े : लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने कांग्रेस समेत ममता बनर्जी को दे डाली ये चेतावनी!

सूत्रों की माने तो इस बार लोकसभा चुनाव में ‘लालकृष्ण आडवाणी’ को गांधीनगर से टिकट नहीं दिया है. आडवाणी इस सीट से 6 बार चुनाव जीते हैं. इस बार उनके स्थान पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गांधीनगर से चुनाव लड़ रहे हैं. 

राहुल द्वारा पीएम मोदी और आडवाणी को लेकर दिए गए विवादित बयान ने बाद सुषमा स्वराज ने किया ये जबरदस्त पलटवार...
नरेंद्र मोदी और लालकृष्ण आडवाणी

आपको यद् दिला दें कि कुछ समय पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता आडवाणी ने हाल ही में आडवाणी ने एक ब्लॉग लिखा था. जिसके बाद से पार्टी पर विरोधियों को हमला करने का अवसर मिल गया. उन्होंने लिखा था कि भाजपा से अलग राजनीतिक राय रखना देशविरोधी होना नहीं है. साथ ही उन्होंने गांधीनगर की जनता और कार्यकर्ताओं के प्रति अपना आभार व्यक्त किया था.

loading...