पद्मावती विवाद की आड़ में एक हिंदू को मारकर लटका दिया गया, मीडिया ने छुपाई सच्चाई! ये देखिये..

281

25 नवंबर, 2017 – फिल्म पद्मावती विवाद को लेकर जयपुर के नाहरगढ़ किले पर एक व्यक्ति की लाश लटकी हुए मिली. लेकिन मीडिया ने कहानी बनाकर जनता को कुछ और ही बता दिया.

पद्मावती विवाद की आड़ में एक हिंदू को मारकर लटका दिया गया, मीडिया ने छुपाई सच्चाई! ये देखिये..
मृत व्यक्ति

एक ब्यक्ति की लाश किले पर झूलती हुए मिली और मीडिया ने बिना सोचे-समझे और बिना जाँच के ही सच बताने के बजाय हिन्दुओ को निशाना बनाया और हिन्दुओं पर आरोप लगाये. इस लाश के मिलते ही हिन्दुओं पर आरोप लगाया जाने लगा कि इस फिल्म का विरोध तो हिंदू ही कर रहे थे और ये हत्या फिल्म का विरोध करने वालों ने ही की है. हिन्दुओं ने ही इस व्यक्ति को मारकर लटकाया है.

लेकिन इसके पीछे सच्चाई तो कुछ और ही है. मीडिया ने सच्चाई को बिलकुल उल्टा करके दिखाया है. जिस व्यक्ति को मारकर उसकी लाश को लटकाया गया है, वो जयपुर के शास्त्री नगर का निवासी है, और वो व्यक्ति किसी और धर्म का नहीं बल्कि हिंदू ही है. मृत व्यक्ति का नाम सोनी है और उसकी लाश के आस-पास बहुत कुछ लिखा हुआ भी पाया गया है. ये कोयले से लिखा गया है. ये देखिये..

पद्मावती विवाद की आड़ में एक हिंदू को मारकर लटका दिया गया, मीडिया ने छुपाई सच्चाई! ये देखिये..

पत्थर पर कोयले लिखा है कि  ” फिल्म पद्मावती का विरोध करने वालो, मतलब हिन्दुओ, हम किले पर सिर्फ पुतले नहीं लटकाते हैं, हम में है पूरा दम” अब आपको बताते हैं इस संदेश का मतलब. इसका सन्देश का मतलब है कि कुछ हिन्दू कुछ दिनों से पद्मावती फिल्म का विरोध जगह-जगह पुतले जलाकर और लटकाकर कर रहे है. हत्यारे हिन्दुओं को ललकारते हुए कह रहे हैं कि वो पुतले नहीं बल्कि आदमी लटकाते हैं. इसके बाद आगे देखिये..

पद्मावती विवाद की आड़ में एक हिंदू को मारकर लटका दिया गया, मीडिया ने छुपाई सच्चाई! ये देखिये..

कोयले से एक और पत्थर पर बिलकुल साफ़-साफ़ लिखा है कि, “हर काफिर का यही हाल होगा”. इसके द्वारा हत्यारा कह रहा है कि पद्मावती फिल्म का विरोध करने वाले काफिरों का यही हाल होगा. जिस तरह इस हिंदू को मारकर हमने लटका दिया है तो उसी तरह बाकि के हिन्दुओं के साथ भी यही होगा, इसी तरह लटकाया जायेगा.

हत्यारे ने अगले पत्थर पर लिखा है कि लूटेरे नहीं बल्कि अल्लाह के बन्दे है हम, एक एक दस-दस पर भारी हैं. चेतन तांत्रिक (मृतक हिन्दू) मारा गया. आप ने सब कुछ खुद अपनी आँखों से देखा कि हत्यारों ने पत्थरों पर क्या-क्या और किसके लिए लिखा है. हत्यारों ने क्या क्या लिखा है, ये तो मीडिया ने बताया ही नहीं. बल्कि इस क़त्ल में हिन्दुओं का नाम दाल दिया.

पद्मावती विवाद की आड़ में एक हिंदू को मारकर लटका दिया गया, मीडिया ने छुपाई सच्चाई! ये देखिये..

हत्यारों ने अपनी भड़ास इस हिंदू व्यक्ति को मारकर निकाली है. हत्यारे खुद लिखकर बता भी रहे हैं कि हिन्दू व्यक्ति को अल्लाह के बन्दों ने मारा है, और हर हिंदू का यही हाल होगा. इससे साफ जाहिर होता है कि हत्यारे पद्मावती का विरोध करने वाले हिन्दुओं को धमकी दे रहे हैं. ये भी कह रहे हैं कि हम 1 ही 10 पर भारी है, तुम तो पुतले लटकाते हो लेकिन हम में दम है इसलिए हम आदमी लटकाते हैं.

साफ़ जाहिर होता है कि हिंदू विरोधियों द्वारा एक हिंदू मार दिया गया, लेकिन मीडिया ने पूरी सच्चाई बताई ही नहीं और इस घटना को कुछ और ही बता दिया.

loading...