भगवान हनुमान पर भाजपा के मुस्लिम नेता दिया ये चौंकाने वाला बयान! जिससे देशभर में मची हलचल…

123

The shocking statement given by BJP’s Muslim leader to Lord Hanuman (नई दिल्ली) : अभी-अभी ‘भाजपा’ नेता ने ‘भगवान हनुमान’ को लेकर एक चौंका देने वाला बयां दिया है. जिसके बाद देशभर में हलचल पैदा हो गई है. सूत्रों की माने तो हनुमान जी की जाति को लेकर छिड़ा विवाद अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा है.

भगवान हनुमान पर भाजपा के मुस्लिम नेता दिया ये चौंकाने वाला बयान! जिससे देशभर में मची हलचल...
भगवान हनुमान

आपको याद दिला दें कि कुछ समय पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ‘योगी आदित्यनाथ’ ने हनुमान जी के दलित दलित होने का दावा किया. जिसके बाद अब भाजपा नेता ‘बुक्कल नवाब’ ने भगवान हनुमान को मुसलमान बताया है.

यह भी पढ़े : भगवान हनुमान को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद CM योगी आदित्यनाथ की बढ़ी मुश्किलें…

भाजपा नेता नवाब ने कहा है कि हनुमान मुसलमान थे, उनका तर्क है कि हमारा मानना है कि मुस्लिम धर्म में इनके नाम से मिलते हुए नाम रखे जाते हैं. जैसे- रहमान, रमजान, फरमान, जीशान और कुर्बान जितने भी नाम हैं वह करीब करीब उन्हीं पर रखे जाते हैं.

भगवान हनुमान पर भाजपा के मुस्लिम नेता दिया ये चौंकाने वाला बयान! जिससे देशभर में मची हलचल...
बुक्कल नवाब

आपको बता दें कि कुछ समय पहले राजस्थान में चुनावी रैली के दौरान मुख्यमंत्री ‘योगी आदित्यनाथ’ ने हनुमान को दलित जाति का बताया था. उनके इस बयान को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए राज्यपाल ने भी उन्हें ‘अलट बिहारी वाजपेयी’ से सीख लेने की नसीहत दी थी.

दूसरी तरफ अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष ‘नंद कुमार साय’ द्वारा हनुमान को जनजाति से बताने पर उन्होंने कहा था कि यह तो वही बता सकते हैं, हो सकता है उन्होंने कोई शोध किया हो.

जिसके बाद उनके इस बयान को लेकर उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ‘महेंद्र नाथ पांडेय’ ने कहा था कि यह उनका संवैधानिक अधिकार है. हमारा वोटर हमारे साथ है. भाजपा को इन सब चीजों से कोई लेना-देना नहीं कि कौन क्या कर रहा है.

भगवान हनुमान पर भाजपा के मुस्लिम नेता दिया ये चौंकाने वाला बयान! जिससे देशभर में मची हलचल...
योगी आदित्यनाथ

प्रदेश अध्यक्ष पांडेय ने मुख्यमंत्री योगी द्वारा भगवान हनुमान पर दिए गए बयान पर उनका बचाव करते हुए कहा था कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया. उनके कहने का कुछ और मतलब था. पूरा संदर्भ समझे बिना ही मामले को तूल दे दिया गया.

loading...