दक्षिण सूडान से भारतीयों को सुरक्षित निकालने का अभियान शुरू

142

नई दिल्ली, 14 जुलाई – विदेश राज्य मंत्री वी.के.सिंह गुरुवार को संकटग्रस्त दक्षिण सूडान से भारतीयों को सकुशल बाहर निकालने के लिए शुरू किए गए अभियान ‘संकटमोचन’ की अगुवाई करने के लिए रवाना हो गए। दक्षिण सूडान हिंसा में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई है।

वी.के.सिंह : विदेश राज्य मंत्री
वी.के.सिंह : विदेश राज्य मंत्री

विकास मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर कहा, “ऑपरेशन संकटमोचन सुबह होते ही शुरू हो गया। दो सी17 विमान जुबा के लिए रवाना हो गए हैं। इसमें विदेश राज्यमंत्री जनरल वी.के.सिह भी है।”

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा था कि विदेश मंत्रालय में आर्थिक मामलों के सचिव अमर सिन्हा के साथ वी.के.सिंह इस अभियान की अगुवाई करेंगे। इसमें संयुक्त सचिव सतबीर सिंह और निदेशक अंजनी कुमार भी हैं।

उन्होंने कहा कि दक्षिण सूडान में भारत के राजदूत श्रीकुमार मेनन और उनकी टीम इस अभियान का आयोजन कर रही है।

दक्षिण सूडान में लगभग 500 भारतीय हैं।

दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति साल्वा कीर ने सोमवार शाम को सरकारी बलों और उपराष्ट्रपति रीक मचार के प्रति निष्ठावान सुरक्षाबलों के बीच कई दिनों से चल रही भारी गोलीबारी के बाद संघर्षविराम के आदेश दिए थे।

सूचना मंत्री माइकल माकुए ने टेलीविजन भाषण में कहा कि राष्ट्रपति कीर ने सभी कमांडरों को संघर्षविराम, अपने सुरक्षा बलों को नियंत्रित करने और नागरिकों को सुरक्षित रखने के निर्देश दिए हैं।

संघर्षविराम सोमवार शाम छह बजे से प्रभावी हुआ।

दक्षिण सूडान की राजधानी जुबा स्थित भारतीय दूतावास ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि भारतीयों को संकटग्रस्त दक्षिण सूडान से बाहर निकालने के लिए विमान सुबह 11 बजे वहां उतरेगा। वैध यात्रा दस्तावेजों के साथ रह रहे भारतीय नागरिकों को ही विमान में सवार होने की अनुमति दी जाएगी।

loading...