राम जन्मभूमि को लेकर डॉ. रामविलास वेदांती के इस धमाकेदार बयान से मुसलमानों में मचा हाहाकार…

871

With this explosive statement of Dr. Vedanti about Ram Janmabhoomi the Muslims sang the silence (लखनऊ) : अभी-अभी उत्तर प्रदेश के लखनऊ से ‘राम जन्म भूमि’ को लेकर चल रही सुलह-समझौते की कवायद के बीच भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष ‘डॉ. रामविलास वेदांती’ ने बड़ा बयान दिया है. जिसके बाद विरोधियों में हडकंप मच गया है. शुक्रवार 12 जुलाई को उन्होंने कहा कि इसे धमकी समझें या सुझाव, दुनिया की कोई भी ताकत राम जन्म भूमि पर मस्जिद नहीं बनवा सकती.

राम जन्मभूमि को लेकर डॉ. वेदांती के इस धमाकेदार बयान से मुसलमानों में मचा हाहाकार...

इसके आगे उन्होंने कहा कि राम जन्म भूमि पर खुदाई के दौरान 12 भगवानों की मूर्तियां मिली. इस स्थान से मस्जिद से जुड़ा कोई प्रमाण नहीं मिला. साथ ही वेदांती ने कहा कि अयोध्या में ‘राम मंदिर’ तोड़कर मस्जिद के गुम्बद बनाए गए थे. जिस प्रकार पाकिस्तान और मलेशिया में बहुत समय पहले तोड़े गए मंदिरों के स्थान पर फिर मंदिरों का निर्माण कराया गया, वैसे ही भारत में क्यों नहीं हो सकता.

यह भी पढ़े : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर डॉ. रामविलास वेदांती के इस धमाकेदार बयान से उड़ी कांग्रेस की धज्जियां

रामविलास वेदांती ने यह भी कहा कि कुछ कट्टरपंथी मुसलमानों को छोड़कर सभी मुसलमान भी चाहते हैं कि राम जन्मभूमि पर ‘रामलला’ के भव्य मंदिर का निर्माण हो. इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान पर हमला करते हुए कहा कि पाकिस्तान नहीं चाहता कि हमारे देश में शांति बनी रहे. शिया वक्फ बोर्ड ने पहले ही इच्छा जाहिर करते हुए कहा था कि अयोध्या में मंदिर और लखनऊ के शिया बहुल इलाके में मस्जिद का निर्माण कराया जाए. हां यह बाबर के नाम पर न हो.

राम जन्मभूमि को लेकर डॉ. वेदांती के इस धमाकेदार बयान से मुसलमानों में मचा हाहाकार...

रामविलास वेदांती ने कहा कि ‘शिया वक्फ बोर्ड’ ने आरोप लगा चुका है कि ‘सुन्नी वक्फ बोर्ड’ के लोग पाकिस्तानी आतंकियों के संपर्क में हैं. इसके आगे उन्होंने कहा कि ‘बाबर’ कभी भी अयोध्या नहीं आया. सबसे पहले हरियाणा के बाबरपुर गया था इसलिए मस्जिद का निर्माण वहीं कराया जाए.

loading...