अमरावती विकास परियोजना को लेकर विश्व बैंक ने आंध्र प्रदेश सरकार को दिया ये जोरदार झटका! जिससे सरकार की बढ़ी मुश्किलें…

107

World Bank has strongly shocked the Andhra Pradesh government about the Amravati development project (आंध्र प्रदेश) : अभी-अभी विश्व बैंक ने ‘आंध्र प्रदेश सरकार’ को जोरदार झटका दिया है. जिससे राज्य के मुख्यमंत्री ‘जगनमोहन रेड्डी’ की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. विश्व बैंक के इस कदम के बाद रेड्डी सरकार में मातम पसर गया है.

अमरावती विकास परियोजना को लेकर विश्व बैंक ने आंध्र प्रदेश सरकार को दिया ये जोरदार झटका! जिससे सरकार की बढ़ी मुश्किलें...

सूत्रों की माने तो ‘अमरावती सस्टेनेबल इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट’ (ए) को खारिज कर दिया है. विश्व बैंक के इस कदम ने आंध्र प्रदेश सरकार की राजधानी अमरावती के विकास को और अधिक खतरे में धकेल दिया.

यह भी पढ़े : मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू नायडू के खिलाफ लिया ये ताबड़तोड़ एक्शन!

विश्व बैंक ने अमरावती परियोजना को खारिज करने की कोई वजह नहीं बताई. दरअसल बैंक की आधिकारिक वेबसाइट ने अमरावती सस्टेनेबल इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट (ए) को खारिज करने की स्थिति दिखाई दे रही है. इस मामले में विश्व बैंक के अधिकारियों ने प्रश्नों का जवाब नहीं दिया. 

अमरावती विकास परियोजना को लेकर विश्व बैंक ने आंध्र प्रदेश सरकार को दिया ये जोरदार झटका! जिससे सरकार की बढ़ी मुश्किलें...

कहा जा रहा है ‘विश्व बैंक’ ने यह कदम इस इलाके में में किसानों द्वारा दर्ज की गई भूमि के बंटवारे की व्यापक शिकायतों के कारण उठाया है. आपको बता दें कि कई किसानों ने राज्य सरकार पर पूंजी विकास के नाम पर पिछले बंटवारे से अपनी उपजाऊ भूमि पर जबरन कब्जा करने का आरोप लगाया था. 

सूत्रों की माने तो कई एनजीओ और पर्यावरणविद् पिछली तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) की सरकारों द्वारा किसानों से जमीन लेने और ‘कृष्णा नदी’ के पास विकास के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करके राजधानी बनाने की योजना का विरोध कर रहे हैं.

अमरावती विकास परियोजना को लेकर विश्व बैंक ने आंध्र प्रदेश सरकार को दिया ये जोरदार झटका! जिससे सरकार की बढ़ी मुश्किलें...

पिछली ‘चंद्रबाबू नायडू सरकार’ ने दावा करते हुए कहा था कि अमरावती विकास परियोजना के लिए विश्व बैंक एक बिलियन अमरीकी डालर का ऋण देने के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमत है.

loading...