योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को…

51

Yogi government hurt the sentiments of Hindus! Authorities removed Bhagwat Katha tent (नोएडा) : उत्तर प्रदेश के ‘नोएडा’ के सेक्टर-58 से एक चौंका देने वाली खबर सामने आई है. जिसके बाद ‘हिन्दू’ समुदाय के लोगों में आक्रोश बना हुआ है. सूत्रों की माने तो ‘नमाज’ पढ़ने पर पाबंदी लगाने के बाद अब ‘ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण’ ने बिना अनुमति के आयोजित किए जा रहे ‘भागवत कथा’ को रोक दिया है.

योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...

सूत्रों की माने तो बुधवार 26 दिसंबर को नोएडा के सेक्टर-37 में प्राधिकरण की जमीन पर लगाए गए टेंट को हटा दिया. जिस समय अधिकारियों की यह कार्रवाई हो रही थी, उसी समय महिलाएं ‘कलश यात्रा’ निकाल रही थीं. इस मामले को लेकर विरोध में महिलाओं और आयोजकों ने जमकर हंगामा किया.

आपको याद दिला दें कि हाल ही में जहां नोएडा में सरकारी पार्क पर ‘नमाज’ पढ़ने की पाबंदी लगाई गई, दूसरी तरफ अब ग्रेटर नोएडा में सरकारी जमीन पर होने जा रही ‘श्रीमद्भागवत कथा’ को रोका गया है. जिसको लेको विशेष समुदाय में खासा रोष बना हुआ है.  गुरुवार 27 दिसंबर को आयोजकों ने बिना टेंट के ही खुले मैदान में भगवत कथा के आयोजन करने का ऐलान किया है.

मंगलवार 25 दिसंबर की शाम को ग्रेटर नोएडा के सेक्टर-37 में प्राधिकरण की खाली जमीन पर बिना अनुमति के नौ दिन तक भागवत कथा कराने के लिए टेंट लगाया गया था. साथ ही म्यूजिक सिस्टम व माइक भी लगाए गए थे.

योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...
कलश यात्रा

प्राधिकरण के विशेष कार्याधिकारी ‘सचिन सिंह’ ने कहा है कि उन्हें कार्यक्रम के लिए अनुमति नहीं दी गई. अगर बिना अनुमति के ऐसा करते हैं तो यह गैर कानूनी होगा.

यह भी पढ़े : राम मंदिर को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री की दहाड़!

ग्रेटर नोएडा (प्रथम) के क्षेत्राधिकारी ‘निशांक शर्मा’ ने कहा है कि प्राधिकरण द्वारा की गई इस कार्रवाई से उसका कोई लेना-देना नहीं है. यह कार्रवाई प्राधिकरण अधिकारियों तथा प्राधिकरण से संबद्ध पुलिसकर्मियों ने की है.

योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...
निशांक शर्मा

सूत्रों की माने तो बुधवार 26 दिसंबर की सुबह प्राधिकरण की टीम ने टेंट को हटा दिया. कहा गया है कि मौके पर एक पार्टी और केंद्र और राज्य सरकार के नाम लेकर अधिकारियों पर दबाव बनाने की कोशिश की गई. 

यह है मुद्दा

बुधवार 26 दिसंबर को ग्रेटर नोएडा सेक्टर-37 में उस वक्त तनाव की स्थिति पैदा हो गई, जब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अतिक्रमणकारी दस्ते ने मंदिर के लिए कब्जा की गई जमीन पर बने टेंट को हटा दिया. देखते ही देखते सैकड़ों सेक्टरवासी मौके पर जमा हो गए. इस दौरान विवाद काफी विवाद बढ़ गया.

योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...

नमाज के कारण उठा यह विवाद

ध्यान देने वाली बात यह है कि हाल ही में बिना अनुमति के नोएडा सेक्टर-58 स्थित कुछ कंपनियों के कर्मचारियों द्वारा एक पार्क में जुमे की ‘नमाज’ पढ़े जाने को लेकर ‘नोएडा पुलिस’ ने नोटिस भेजा था, इसको लेकर हंगामा मचा हुआ है.

इसके अलावा फ़रवरी 2013 से हर शुक्रवार को सेक्टर-58 स्थित एक पार्क में नमाज पढ़ी जा रही थी. पहले इसमें शामिल होने वालों की संख्या कम थी, जो बीते कुछ दिनों से काफी बढ़ चुकी है. कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर ‘पंकज राय’ ने इस मामले में कहा है कि सात दिसंबर को स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत की. जिसमें कहा गया कि हर हफ्ते होने वाले इस धार्मिक आयोजन से उन्हें परेशानी हो रही है.

योगी सरकार ने हिन्दुओं की भावनाओं को पहुंचाई ठेस! प्राधिकरण ने भागवत कथा के टेंट को...
नमाज

कारी देते हुए कहा है कि सेक्टर 58 के इस पार्क में पहले से ही कुछ लोग शुक्रवार को नमाज पढ़ने जा रहे थे. परंतु कुछ हफ्तों से नमाज पढ़ने वालों की संख्या तेजी से इजाफा हुआ है. ऐसे में इस तरह की गतिविधि पर कुछ लोगों ने एतराज जताया है.

loading...