श्रीनगर उप-चुनाव :पिछली हिंसा का असर, इन बूथों पर नहीं पड़ा एक भी वोट

173

श्रीनगर, 13 अप्रैल – जम्मू एवं कश्मीर के श्रीनगर-बडगाम लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में गुरुवार को कुछ मतदान केंद्रों पर हुए पुनर्मतदान में 35,169 मतदाताओं में सिर्फ 709 मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया। निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि बडगाम जिले में 38 मतदान केंद्रों पर हुए पुनर्मतदान में करीब 2.02 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।

श्रीनगर उप-चुनाव :पिछली हिंसा का असर, इन बूथों पर नहीं पड़ा एक भी वोट
श्रीनगर उप-चुनाव : पुनर्मतदान में भी पड़े सिर्फ 2 फीसदी मत

रविवार को उप-चुनाव के दौरान हुई हिंसा को देखते हुए पुनर्मतदान के लिए 20,000 सुरक्षा कर्मियों को तैनाता किया गया था, इसके बावजूद मतदाता मतदान करने घरों से नहीं निकले।

पुनर्मतदान में जितने लोगों ने मतदान किया उनमें से प्रत्येक पर करीब 40 सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए थे।

इससे पहले राज्य में लोकसभा और विधानसभा चुनावों के विपरीत पुनर्मतदान के दौरान सड़कें सुनसान रहीं। वाहनों की आवाजाही भी लगभग न के बराबर रही।

38 में से 18 मतदान केंद्रों पर एक भी वोट नहीं डाला गया और चार अन्य मतदान केंद्रों पर सिर्फ एक-एक वोट पड़े।

हालांकि रविवार की तरह गुरुवार को चुनावी हिंसा की कोई वारदात नहीं हुई और युवकों द्वारा पत्थरबाजी की सिर्फ एक घटना हुई।

श्रीनगर से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित शिया बहुल इलाके नसरुल्लापुरा में युवकों ने सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की।

श्रीनगर संसदीय सीट से खड़े नेशनल कांफ्रेस के प्रत्याशी फारूक अब्दुल्ला को समर्थन दे रही कांग्रेस ने इतना कम मत प्रतिशत रहने का आरोप राज्य सरकार और निर्वाचन आयोग पर लगाया है।

बडगाम के चद्दूरा निवासी नजीर अहमद ने कहा कि अलगाववादियों द्वारा चुनाव का बहिष्कार करने के आह्वान के बावजूद उन्होंने मतदान किया, क्योंकि ‘आरएसएस को सत्ता से बाहर रखने के लिए यह अहम है’।

मतदान न करने वाले एक युवक ने कहा कि उसने इसलिए मतदान नहीं किया क्योंकि वह और उसके दोस्त पीडीपी से बेहद खफा हैं।

नेशनल कांफ्रेंस के पूर्व मंत्री नासिर सोगामी ने इतने कम मत प्रतिशत पर कहा, “यह राज्य सरकार की असफलता है, क्योंकि उसने राज्य में मुख्यधारा की राजनीति को दबाने का काम किया है। बेहद खराब मत प्रतिशत यह भी दर्शाता है कि राज्य की गरीब जनता की रुचि मुख्यधारा की राजनीति में नहीं है।”

मतगणना शनिवार को होगी और नतीजे भी इसी दिन घोषित किए जाएंगे।

–आईएएनएस

loading...