रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने आते ही किया बड़ा ऐलान! कहा- 15 अगस्त को PM मोदी देश को देंगे ये शानदार तोहफा

99

13 सितंबर, 2017 – रेल मंत्री बनते ही पीयूष गोयल ने एक बड़ा ऐलान करते हुए सबको चौंका दिया है. जिसकी चर्चा पूरे देश में जोर-शोर से हो रही है.

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने आते ही किया बड़ा ऐलान! कहा- 15 अगस्त को PM मोदी देश को देंगे ये शानदार तोहफा

मोदी सरकार का कहना है कि देश जब स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा, उस वक्त देश की पहली बुलेट ट्रेन अपनी सीटी बजा देगी. इंडियन रेलवे की कोशिश बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट को तय वक्त से एक साल पहले ही पूरा करने की है ताकि 15 अगस्त 2022 को बुलेट ट्रेन अहमदाबाद और मुंबई के बीच अपना सफर शुरू कर सके.

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी कहा कि 2022 तक बुलेट ट्रेन को चालू करने के लिए हम पूरी कोशिश करेंगे. मुंबई से अहमदाबाद के बीच बन रहे इस 508 किलोमीटर लंबे कोरिडोर प्रोजेक्ट में 1.6 लाख करोड़ रुपए की लागत आएगी.

बुलेट ट्रेन चलाने के लिए 14 सितंबर को प्रॉजेक्ट का शिलान्यास किया जाएगा. यह सिर्फ रस्म अदायगी नहीं होगी बल्कि वाकई में उसी दिन से अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट स्टेशन का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा.

उसी दिन बड़ोदा में इस प्रॉजेक्ट के लिए ट्रेनिंग सेंटर का भी निर्माण शुरू किया जाएगा. रेल मंत्री ने यह भी ऐलान किया कि अन्य रूटों पर बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट के लिए इस कॉरिडोर के तैयार होने का इंतजार नहीं किया जाएगा बल्कि उन पर पहले ही निर्माण कार्य शुरू किया जा सकता है.

जापान की तरफ से बुलेट ट्रेन चलाने के लिए 2023 को डेडलाइन यानी आखिरी तारीख कहा था, जबकि पीएम मोदी ने कहा है कि वह आधिकारिक समय सीमा से पहले ही इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की क्षमता रखते हैं.

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने आते ही किया बड़ा ऐलान! कहा- 15 अगस्त को PM मोदी देश को देंगे ये शानदार तोहफा

पियूष गोयल ने आगे कहा है कि हाई स्पीड बुलेट ट्रेन का किराया सभी के लिए किफायती होगा. उन्होंने कहा है कि अगर यात्रियों को फ्लाइट से भी कम किराए में सफर करने का मौका मिलेगा तो लोग इसमें सफ़र करना पसंद करेंगे.

रेलमंत्री का दावा है कि बुलेट ट्रेन ही नहीं, उसकी तकनीक भी भारत को मिलेगी इसलिए आने वाले वक्त में भारत ज्यादा बुलेट ट्रेनों का निर्माण करेगा और सस्ती दर पर बनी इन ट्रेनों को दूसरे देशों को निर्यात कर सकेगा। इससे काफी रोजगार पैदा होंगे.

रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार बुलेट ट्रेन 508 किलोमीटर की इस दूरी को 2 घंटे 58 मिनट में तय करेगा, जिसमें 10 स्टेशन भी होंगे. वहीं उन्होंने कहा कि अगर ट्रेन सिर्फ दो स्टेशनों- सूरत और वडोदरा- पर रुकेगी, तो यात्रा का समय और भी कम होकर सिर्फ 2 घंटे हो जाएगा यानी फिर यह दूसरी सिर्फ 2 घंटे में तय हो जाएगी.

बुलेट ट्रेन 320 किलोमीटर की औसत स्पीड से दौड़ेगी, जबकि इसकी अधिकतम स्पीड 350 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. यह भारत के लिए बड़ी उपलब्धि होगी. जिससे लोगों को काफी सुविधा होगी.

Loading...