भारत की मिसाईल टेस्ट पर बौखलाया पाकिस्तान, पावर बैलेंस को लेकर करेगा परेशान

188
सरताज अजीज ने भारत की सुपरसोनिक मिसाइल टेस्ट पर गहरी चिंता जताई
                                          सरताज अजीज ने भारत की सुपरसोनिक मिसाइल टेस्ट पर गहरी चिंता जताई

इस्लामाबाद : भारत के सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल परीक्षण पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा कि पाकिस्तान इस मामले को अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाएगा और अपनी रक्षा प्रणाली को दुरुस्त करने के लिए अत्याधुनिक तकनीक हासिल करेगा।

पाकिस्तान की परेशानी
  – रेडियो पाकिस्तान की खबर के मुताबिक, अजीज ने भारत की सुपरसोनिक मिसाइल टेस्ट पर चिंता जताई है।
– उन्होंने कहा, “पाकिस्तान भी अपने डिफेंस के लिए एडवांस्ड मिसाइल टेक्नोलॉजी अपग्रेड करता रहेगा।”
– “अमेरिका भारत को चीन के सामने खड़ा करना के लिए लगातार उसकी हर तरह से मदद कर रहा है। इस मामले में अमेरिका दोहरी चाल चलता है।”
– “हम इस मुद्दे इंटरनेशनल लेवल पर जोर-शाेर से उठाएंगे।”
– बता दें कि रविवार को भारत में बनी इंटरसेप्टर मिसाइल का टेस्ट कामयाब रहा था।
डिफेन्स सिस्टम को मजबूत करने के तरीके
 – रविवार सुबह 11.15 बजे ओडिशा के अब्दुल कलाम आईलैंड से मिसाइल को फायर किया गया।
– यह एक सुपरसोनिक बैलिस्टिक मिसाइल है, जो 2000 किलोमीटर की रेंज में आने वाली दुश्मन मिसाइलों को मार गिराने की ताकत रखती है।
– ये मिसाइल पूरी तरह से भारत में बनी है। इसे DRDO ने बनाया है।
– इसकी लंबाई 7.5 मीटर है, जिसमें एडवांस नेविगेशन सिस्टम लगा है।
– एंटी बैलिस्टिक मिसाइल सुपरसोनिक (हवा की रफ्तार से भी तेज) है।
– फिलहाल मिसाइल 2000 KM तक हवा में मार कर सकती है, जिसे अपग्रेड किया जा रहा है।
– इंटरसेप्टर से भारत का दो लेयर वाला एयर डिफेंस सिस्टम (AAD) मजबूत होगा।
– इंटरसेप्टर के पास खुद अपना मोबाइल लॉन्चर है।
– हवा के रास्ते देश में अगर दुश्मन का प्लेन या मिसाइल घुसने की कोशिश करता है तो यह उसे मार गिराने के काबिल है।
– इसका वजन 1.2 टन बताया जा रहा है।
 
भारत की मिसाइल ताकत
– अग्नि-1, अग्नि-2, अग्नि-3, पृथ्वी और ब्रह्मोस मिसाइल भारत के पास पहले से हैं।
– इनमें अग्नि बैलिस्टिक मिसाइल है, जबकि ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है।
loading...