मिड-डे मील को लेकर कमलनाथ सरकार का सामने आया ये घिनौना चेहरा! राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमारती देवी ने दिया ये विवादित बयान…

109

Kamal Nath Government Minister Imarti Devi gave this controversial statement about mid-day meal (मध्य प्रदेश) : अभ-अभी मध्य प्रदेश से एक चौंकाने वाली खबर आई है. राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री ‘इमरती देवी’ ने एक विवादित बयान दिया है. जिसके बाद देशभर में हलचल मच गई है. उन्होंने कहा कि ‘शौचालय में खाना पकाने में कोई परेशानी नहीं है बस शौचालय सीट और स्टोव के बीच विभाजन होना चाहिए.’

मिड-डे मील को लेकर कमलनाथ सरकार का सामने आया ये घिनौना चेहरा! कांग्रेस मंत्री इमारती देवी ने दिया ये विवादित बयान...

इमारती देवी का यह बयान उस रिपोर्ट के बाद आया है जिसमें कहा गया था कि मध्यप्रदेश के करैरा में स्थित एक आंगनबाड़ी केंद्र में शौचालय का उपयोग रसोई के तौर पर किया जा रहा है. 

यह भी पढ़े : कमलनाथ के इस विवादित बयान पर शिवराज सिंह का जबरदस्त पलटवार!

सूत्रों की माने तो आंगनबाड़ी के शौचालय में बच्चों के लिए खाना तैयार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि शौचलय की जिस सीट पर बर्तनों को रखते थे, उसका उपयोग नहीं किया जा रहा था. उसे बजरी भरकर बंद किया हुआ था. दरअसल फिर भी इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. 

मिड-डे मील को लेकर कमलनाथ सरकार का सामने आया ये घिनौना चेहरा! कांग्रेस मंत्री इमारती देवी ने दिया ये विवादित बयान...

इसके आगे उन्होंने कहा कि आपको यह समझना होगा कि इस प्रकार का विभाजन आज भी मौजूद है. यहां तक कि हमारे घरों में भी इस तरीके का विभाजन है. हमारे घरों में शौचालय और बाथरूम साथ में जुड़े हुए है. अगर ऐसा हो कि घर आए रिश्तेदार हमारे घर का खाना खाने से इंकार कर ते हुए कहें कि हम मना इसलिए कर रहे हैं क्योंकि आपके घर में शौचालय और बाथरूम साथ में बने हुए हैं.

कांग्रेस मंत्री इमारती देवी ने यह भी कहा कि यदि आंगनबाड़ी में ऐसी घटना हुई है तो इसकी जांच की जाएगी. आपको बता दें कि करैरा के इस आंगनबाड़ी केंद्र में रसोई घर से शौचालय मिला हुआ है और वहां एलपीजी सिलेंडर का इस्तेमाल कर स्टोव पर खाना पकाया जा रहा था. खाना बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले बर्तनों को शौचालय की सीट पर रखा गया था.

मिड-डे मील को लेकर कमलनाथ सरकार का सामने आया ये घिनौना चेहरा! कांग्रेस मंत्री इमारती देवी ने दिया ये विवादित बयान...

दूसरी तरफ जिले के महिला एवं बाल विकास अधिकारी ‘देवेन्द्र सुंद्रियाल’ का कहना है कि खाना पकाने की जिम्मेदारी एक स्वं सहायता समूह का है. वो शौचालय का उपयोग रसोई के तौर पर कर रहा था. इस मामले में आंगनबाड़ी सुपरवाइजर और कार्यकर्ता के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

loading...