डीटीसी को 4000 करोड़ के घाटे में पहुँचाने के बाद केजरीवाल ने दिल्ली मेट्रो को लेकर कर डाली ये मांग

144

13 अक्टूबर, 2017 – दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल तरह-तरह के बयान देकर हमेशा सुर्ख़ियों में रहते रहते हैं. इसी के चलते एक बार फिर से केजरीवाल ने अजीबोगरीब बयान दिया है.

डीटीसी को 4000 करोड़ के घाटे में पहुँचाने के बाद केजरीवाल ने दिल्ली मेट्रो को लेकर कर डाली ये मांग

दिल्ली मेट्रो को लेकर अरविन्द केजरीवाल ने केंद्र सरकार से मांग कि है कि मेट्रो को पूरी तरह उन्हें सौंप दिया जाये, केजरीवाल ने दावा किया है कि अगर दिल्ली मेट्रो उन्हें मिल जाती है तो वो मेट्रो को सस्ते में चला के दिखाएंगे साथ ही मुनाफा भी कमाएंगे और दिल्ली का विकास करेंगे. केजरीवाल के मंत्री मनीष सिसोदिया भी ये दावा कर रहे हैं.

इससे पहले भी आम आदमी पार्टी भी दिल्ली मेट्रो केजरीवाल को सौंपने की मांग कर चुकी है. दिल्ली में सरकारी बस सेवा यानि डीटीसी है और डीटीसी में एयर कंडीशन और नॉन एयर कंडीशन दोनों तरह की बसें चलाई जाती है.

और इन बसों में भीड़ भी बहुत होती है. लेकिन दिल्ली में केजरीवाल की सरकार आने के बाद डीटीसी बसें केजरीवाल के ही पास है और और केजरीवाल के राज में डीटीसी 4000 करोड़ रुपए के घाटे में चल रही है. सिर्फ घाटे में ही नहीं, दिल्ली में लगभग रोज ही कहीं न कहीं डीटीसी बस लोगों की जान भी लेती है, बसों की स्थिति काफी बिगड़ गयी है.

अब ये आलम है कि एयर कंडीशन बसों में एयर कंडीशन ही नहीं चलते, उसमे स्तिथि तो कई बॉस गैस चैम्बर जैसी हो जाती है पर इतना नुकसान करने के बाद भी अरविन्द केजरीवाल को दिल्ली मेट्रो भी पूरी तरह चाहिए ताकि वो मेट्रो का भी बुरा हाल कर दें.

केजरीवाल की इस मांग के पीछे लोगों का कहना है कि केजरीवाल सरकार दिल्ली मेट्रो को पूरी तरह इसलिए हड़पना चाहती है ताकि ताकि उस से जुड़े ठेकों को अपने लोगों को सौंपकर मोंटा माल बनाया जा सके.

Loading...