अब होगा जिहादियों के कुकर्मो का खुलासा! योगी सरकार अपनाने जा रही है इस गजब की रणनीति को..

252

23 जनवरी, 2018 – बड़े-बड़े फैसले लेने वाली योगी सरकार ने एक बार फिर से अपना कमाल दिखाते हुए एक ऐसी रणनीति अपनाई है जिससे जिहादियों के कुकर्मों की पोल खुल जाएगी.

अब होगा जिहादियों के कुकर्मो का खुलासा! योगी सरकार अपनाने जा रही है इस गजब की रणनीति को..
योगी आदित्यनाथ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

अगर आप सोच रहे हैं कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकर को बजाने के लिए अनुमति दे देगी या फिर देना शुरू कर दिया है, तो थोडा रुकिए और फिर से सोचिये. शांत दिमाग से सोचिये क्योंकि जहाँ आप सोचना बंद कर देते हैं, योगी से वहीँ से सोचना शुरू करते हैं. और इसके पीछे भी योगी सरकार जिहादियों को बेनकाब करना चाहती है. 

ये लाउडस्पीकर का मुद्दा तो सिर्फ बहाना है, असली मकसद तो आपको ये बताना है कि उत्तर प्रदेश में मंदिर-मस्जिद का रेश्यो क्या है? उत्तर प्रदेश से अभी-अभी खबर आई है कि एक इलाके में लाउडस्पीकर को मस्जिदों में बजाने की परमिशन लेने वाले 101 संस्थाओं में केवल 2 मंदिर ही थे बाकि बची हुई 99 मस्जिदें थीं.

अब होगा जिहादियों के कुकर्मो का खुलासा! योगी सरकार अपनाने जा रही है इस गजब की रणनीति को..

जहाँ आप सोचना छोड़ देते हैं, योगी महाराज वही से सोचना शुरू कर देते हैं. लाउडस्पीकर पर बैन लगने के बाद मस्जिद के जिहादी इनको फिर से चालू करवाने के लिए अनुमति लेने आयेंगे और साथ ही उनको यहाँ भी बताना होगा कि मस्जिद का रजिस्ट्रेशन हुआ है या फिर नहीं? मस्जिद किस जमीन पर बनाई गयी है? कौन से वर्ष में मस्जिद का निर्माण किया गया है? मस्जिद का निर्माण बनाने के लिए पैसे कहाँ-कहाँ से आये? आदि प्रकार के सवाल किये जायेंगे. 

जिहादियों की हर गली में जो ये मस्जिद-मदरसे बने हुए हैं, इनके लिए सऊदी अरब से लेकर पाकिस्तान तक से भारी मात्रा में पैसा आता है. अब रजिस्ट्रेशन होगा तो इनकी पूरी सच्चाई सामने आ जाएगी और कुकर्मों का खुलासा भी हो जायेगा. सरकारी जमीनों पर गैर क़ानूनी तरीके से बनी सारी मस्जिद-मदरसों का पर्दाफाश भी हो जायेगा. थोडा धैर्य रखिये, लाउडस्पीकर से मौलाना साहब की काली करतूतों तक, सबको बेनकाब करेंगे योगी जी.   

 

loading...