आई बात जुबां पर! हार्दिक ने हड़बड़ाहट में कह डाला कुछ ऐसा कि जिससे कांग्रेस के षड्यंत्र का खुला राज

276

11 नवंबर, 2017 – पटेलों की लड़ाई का दम भरने वाले हार्दिक पटेल को लेकर एक बहुत ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है. अनजाने में उन्होंने कुछ ऐसी बात कर डाली जिससे कि खुद उनकी पोल खुल गयी.

आई बात जुबां पर! हार्दिक ने हड़बड़ाहट में कह डाला कुछ ऐसा कि जिससे कांग्रेस के षड्यंत्र का खुला राज
हार्दिक पटेल

हार्दिक पटेल राजनीती में नए-नए आये हैं. एक तो उनकी उम्र कम और ऊपर से उतने पक्के नेता भी नहीं हैं. उनको कब कहाँ पर क्या बोलना है, इसका कोई अंदाजा नहीं है. अनजाने में उनके मुँह पर एक ऐसी बात आ गयी, जिसकी आशंका बहुत से लोगों को थी, हार्दिक पटेल ने खुलेआम कहा कि आरक्षण जरुरी नहीं है, बल्कि भाजपा को हटाकर कांग्रेस को लाना जरुरी है. ऐसे हार्दिक पटेल को दोगला नहीं तो और क्या कहेंगे.
इसी आरक्षण की आड़ में हार्दिक ने मोटी कमाई की और बंगला, गाड़ी इत्यादि आलीशान चीजे ली. अब यही हार्दिक पटेल ने 10 नवंबर 2017 को कहा की, आरक्षण ज्यादा जरुरी नहीं है भाजपा को हटाना जरुरी है, और इसी कारण वो कांग्रेस के करीब गए है, वो भाजपा को हटाकर कोंग्रेस को लाना चाहते है न की उनका मुद्दा पटेलों को आरक्षण दिलवाना है. चुनाव आते ही हार्दिक ने गिरगिट की तरह रंग बदल लिया.

आई बात जुबां पर! हार्दिक ने हड़बड़ाहट में कह डाला कुछ ऐसा कि जिससे कांग्रेस के षड्यंत्र का खुला राज

इस बात को हार्दिक पटेल ने खुद ही स्वीकार कर लिया की आरक्षण का तो सिर्फ बहाना है, कुछ पटेल कह रहे है की हार्दिक पटेल कांग्रेस के एजेंट है, वो बिलकुल सही बात है, कांग्रेस का ही ये प्लान था की गुजरात में हिन्दुओ में पहले जातिवाद का जहर भरो, और अपने लिए रास्ता तलाशों. हार्दिक पटेल ने गुजरात के पटेल समुदाय और जनता को बहुत बड़ा धोखा दिया है. इसके पीछे उनकी और कांग्रेस की मिली-भगत थी.

कांग्रेस ने पहले से तैयार की गयी रणनीति के तहत OBC, दलित, पटेल नेता पैदा किये गए, हिन्दुओं को भड़काकर अलग-अलग जातियों में बांटा और फिर इसके बाद चुनाव नजदीक आते ही ये सभी कांग्रेस में आ गए. कांग्रेस ने वोट बैंक के लालच में आरक्षण का मुद्दा तो सोची समझी रणनीति का हिस्सा था, इनका मकसद तो गुजरात में भाजपा को हटाकर कांग्रेस को लेकर आना था. अनजाने में ही सही लेकिन हार्दिक पटेल ने इस बात को स्वीकारा तो सही. आप खुद देखिये डीएनए अखबार में हार्दिक पटेल का ये बयान…

आई बात जुबां पर! हार्दिक ने हड़बड़ाहट में कह डाला कुछ ऐसा कि जिससे कांग्रेस के षड्यंत्र का खुला राज

शुरू से ही गुजरात में पटेल समुदाय भाजपा को मजबूती देता रहा है और इन्होने हमेशा से भाजपा पर अपना विश्वास जताया है.  करीब 1990 के समय से ही गुजराती पटेल भाजपा को अपना पूरा समर्थन देते आ रहे हैं और इसी को लेकर  कांग्रेस रणनीति ने पटेलों को अलग करने की साजिश रची और हार्दिक पटेल जैसे नेताओं को फूट डालने के काम में लगा दिया. जिसका खुलासा खुद हार्दिक पटेल ने किया है. कांग्रेस की रणनीति कितनी कामयाब होगी या नहीं? ये तो चुनावी नतीजों के बाद ही पता चलेगा.

loading...