हिंदू विरोधी कांग्रेस के बिगड़े बोल! कहा – “आरएसएस और भाजपा को हिंदुओं का प्रतिनिधित्व..

297

नई दिल्ली, 2 सितम्बर – कांग्रेस ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) पर बड़ा बयान देकर सनसनी फैला दी है. जिसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है.

हिन्दुओं विरोधी कांग्रेस के बिगड़े बोल! कहा - "आरएसएस और भाजपा को हिंदुओं का प्रतिनिधित्व..

कांग्रेस खुद एक हिंदू विरोधी पार्टी है और कांग्रेस राज में हिन्दुओं पर अत्याचार पर अत्याचार हुए. कुछ दिन पहले ही रोहिंग्या मुस्लिमों ने बर्बरता से हिन्दुओं की हत्या कर दी थी. ये वही रोहिंग्या मुसलमान हैं जो कांग्रेस द्वारा अवैध तरीके से भारत में बसाये गए थे. अब यही मुस्लिम हिन्दुओं को खुलेआम धमकी दे रहे हैं और भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की बात कर रहे हैं.

ऐसे ही कांग्रेस के कई किस्से हैं. जो कि हिन्दुओं पर अत्याचार के लिए जिम्मेदार हैं. नेहरु के समय से ही कांग्रेस ने हिन्दुओं पर अत्याचार शुरू कर दिए थे लेकिन अब मोदी सरकार के आने के बाद हिन्दुओं को सम्मान मिल रहा है.

कांग्रेस ने कहा कि राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) के पास यह स्वीकारने का ‘चरित्र व साहस’ नहीं है कि वही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का ‘मूल राजनीतिक दल’ है और जोर देते हुए कहा कि भाजपा और संघ को हिंदुओं का प्रतिनिधित्व करने का अधिकार नहीं है।

कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा, “सहयोगियों की बैठक में (वृंदावन) में शामिल होने के बावजूद आरएसएस के पास अभी भी चरित्र व साहस नहीं है कि कह सके कि वह भाजपा की ‘मूल राजनीतिक पार्टी’ है।”

आरएसएस की ऑक्टोपस के साथ तुलना करते हुए शर्मा ने कहा, “इसके कई सहयोगी संगठन हैं। वे भारतीय संस्कृति व हिंदू धर्म के प्रतिनिधित्व का दावा करते हैं। जबकि आरएसएस व हिंदुत्व राजनीतिक विचारधारा हैं, न तो यह संस्कृति हैं और न ही हिंदू धर्म का दर्शन हैं।”

उन्होंने कहा, “देश के बहुसंख्यक समुदाय ने कभी आरएसएस या भाजपा को हिंदुओं का प्रतिनिधित्व करने का अधिकार नहीं दिया है। यह दिखाता है कि उनकी सोच विकृत है। राजनीति में धर्म का घातक घालमेल ही वह चीज है जो भाजपा और आरएसएस कर रहे हैं।”

शर्मा ने कहा, “आरएसएस अभी भी एक सामाजिक व सांस्कृतिक संगठन होने का दावा करता है। हालांकि, आरएसएस की मोहर के बिना भाजपा या भाजपा सरकार कोई फैसला नहीं लेती। उन्हें सामने आकर यह स्वीकार करना चाहिए कि वही भाजपा की राजनीतिक नीति निर्धारण को नियंत्रित करते हैं।”

आरएसएस और भाजपा पर आरोप लगाने वाली कांग्रेस पार्टी ने आज तक हिन्दुओं के लिए कुछ नहीं किया. भाजपा के आने के बाद हिन्दुओं का हक़ उनको मिल रहा है. यही कारण है की आज भाजपा हर जगह अपनी जीत के परचम लहरा रही है और कांग्रेस पार्टी टूटने के कगार पर है.

 

loading...