शौर्य दिवस : हिन्दू सेना का जंतर मंतर पर प्रदर्शन ! अवैध मस्जिदों को हटाने के लिए शुरू किया ‘मथुरा-काशी मुक्ति अभियान’

22

नई दिल्ली : अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद से ही 6 दिसंबर को हर साल अनेक हिन्दू संगठन अयोध्या समेत देश भर में शौर्य दिवस मनाते रहे हैं.

शौर्य दिवस : हिन्दू सेना का जंतर मंतर पर प्रदर्शन ! अवैध मस्जिदों को हटाने के लिए अयोध्या के बाद शुरू किया 'मथुरा-काशी मुक्ति अभियान'

इस बार के शौर्य दिवस के उपलक्ष्य में हिन्दू सेना ने जंतर मंतर पर धरना प्रदर्शन किया और इस मौके पर हिन्दू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने कहा, “राम मंदिर तो एक झांकी है, मथुरा-काशी अभी बाकि है. अयोध्या पर आये कोर्ट के फैसले का हम स्वागत करते हैं और जल्द ही राम मंदिर का निर्माण होगा.”

शौर्य दिवस : हिन्दू सेना का जंतर मंतर पर प्रदर्शन ! अवैध मस्जिदों को हटाने के लिए अयोध्या के बाद शुरू किया 'मथुरा-काशी मुक्ति अभियान'

इस जोरदार प्रदर्शन के दौरान विश्व हिन्दू पीठ के अध्यक्ष आचार्य मदन ने कहा, “श्रीकृष्ण जन्म स्थान पर बनी शाही मस्जिद को हटाने से मुग़ल औरंगजेब का कलंक मिटेगा, मथुरा हिन्दुओं का महत्वपूर्ण तीर्थ है, इसलिए इसे तुरंत ही खाली कराया जाए. श्रीरामजन्म स्थान पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से स्पष्ट हो चूका है कि बाबरी नाम के भवन के मूल में मंदिर ही था, अब यह बात आम जनता भी जान चुकी है कि मुग़ल और अन्य मुस्लिम आक्रमणों के काल खंड में विध्वंस किये गए मंदिरों पर बनी मस्जिदों और मकबरों को वापस हिन्दुओं को सौपा जाए. अब अगला संघर्ष काशी विश्वनाथ स्थित ज्ञानव्यापी मस्जिद और मथुरा में कृष्ण जन्मस्थान को मुक्त कराने के लिए होगा.”

इस प्रदर्शन में विष्णु गुप्ता ने आगे कहा कि, “अयोध्या पर फैसला आने से हमारा कार्य ख़त्म नहीं हो जाता. आज हिन्दू सेना शौर्य दिवस के मौके पर मथुरा-काशी मुक्ति अभियान शुरू कर रही है. हिन्दू सेना उन सभी धर्मस्थलों को मुक्त कराने के लिए अभियान चलाएगी, जिन स्थानों को जिहादी मुस्लिमों ने मंदिर तोड़कर मस्जिदों का निर्माण किया.”

शौर्य दिवस : हिन्दू सेना का जंतर मंतर पर प्रदर्शन ! अवैध मस्जिदों को हटाने के लिए अयोध्या के बाद शुरू किया 'मथुरा-काशी मुक्ति अभियान'

हिन्दू सेना ‘मथुरा-काशी अभियान’ को राष्ट्रीय आन्दोलन का रूप देना चाहती है ताकि सरकार की ओर से उनकी मांगों को पूरा किया जा सके. इस धरने में विष्णु गुप्ता समेत राकेश बंजारा, अरुण पंचाल, दिनेश गुप्ता, धीरज कुमार, गजेन्द्र कुमार, उपेन्द्र कुमार, सुरेन्द्र चौधरी और सजीव लोहिया आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे.

loading...