गौमाता के चमत्कार! हिन्दुओं की आस्था के प्रतीक “गौमाता” के ये हैं 11 शुभ शकुन, जानिए

1328

यह तो सभी जानते हैं कि हिन्दू धर्म में गौमाता को पवित्र माना गया है, इसकी पूजा की जाती है, इसकी सेवा की जाती है, वर्षों से हो रहे रीति-रिवाज़ हमेशा ही निभाए जाते हैं, आज के युग में भी लोग प्राचीन रिवाज़ों का पालन कर रहे हैं।

गौमाता के चमत्कार! हिन्दुओं की आस्था के प्रतीक "गौमाता" के ये हैं 11 शुभ शकुन, जानिए
“गौमाता” के हैं 11 शुभ शकुन, जानिए

लेकिन हर कोई इन रिवाज़ों का महत्व और उद्देश्य नहीं जानता। गाय बेहद शांत और सौम्य पशु है। हिन्दू धर्म में यह पवित्र और पुजनीय मानी गई है। यहां तक कि ज्योतिष के कई बड़े शास्त्रों में गाय की विशेष महिमा बताई गई है।

भगवान विष्णु के वाहन गरुण ने भी गरुण पुराण गायों के महत्व का उल्लेख किया है। उनके अनुसार जीवन के बाद मोक्ष प्राप्ति का सीधा मार्ग गाय की सेवा ही है। आप जितनी निष्ठा से उनकी सेवा करेंगे, उनका आदर-सम्मान करेंगे, उनकी देखभाल करेंगे, उतने ही पुण्य प्राप्त करके मृत्यु के बाद मोक्ष हासिल करेंगे।

गाय को माता मानने के पिछे यह आस्था है कि गाय में समस्त देवता निवास करते हैं व प्रकृति की कृपा भी गाय की सेवा करने से ही मिलती है।

भगवान शिव का वाहन नंदी (बैल), भगवान इंद्र के पास समस्त मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाली गाय कामधेनू, भगवान श्री कृष्ण का गोपाल होना एवं अन्य देवियों के मातृवत गुणों को गाय में देखना भी गाय को पूज्य बनाते हैं।

भविष्य पुराण के अनुसार गोमाता के पृष्ठदेश यानि पीठ में ब्रह्मा निवास करते हैं तो गले में भगवान विष्णु विराजते हैं। भगवान शिव मुख में रहते हैं तो मध्य भाग में सभी देवताओं का वास है।

गऊ माता का रोम रोम महर्षियों का ठिकाना है तो पूंछ का स्थान अनंत नाग का है, खूरों में सारे पर्वत समाये हैं तो गौमूत्र में गंगादि पवित्र नदिया, गौमय जहां लक्ष्मी का निवास तो माता के नेत्रों में सूर्य और चंद्र का वास है।

कुल मिलाकर गाय को पृथ्वी, ब्राह्मण और देव का प्रतीक माना जाता है। प्राचीन समय में गोदान सबसे बड़ा दान माना जाता था और गौ हत्या को महापाप। यही कारण रहे हैं कि वैदिक काल से ही हिंदू धर्म के मानने वाले गाय की पूजा करते आ रहे हैं। गाय की पूजा के लिये गोपाष्टमी का त्यौहार भी भारत भर में मनाया जाता है।

यहाँ क्लिक करें और अगले पर देखें गौमाता के 11 शुभ शकुन…

 

Loading...