साप्ताहिक राशिफल: 8 जनवरी से 14 जनवरी 2018

334

आचार्य मदन जी ,सर्वज्ञ शारदा पीठ, शांकर मठ, कश्मीर, द्वारा निर्मित आप का साप्ताहिक राशिफल.

साप्ताहिक राशिफल
8 जनवरी से 14 जनवरी 2018
विक्रमी संवत-2074, शक संवत- 1939, दिल्ली


मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
इस सप्ताह आपको बुध मेष राशि से नवम स्थान से भ्रमण कर है. आपको बुध शनि की युति से उच्च शिक्षा के योग प्रबल हो रहे हैं, किसी यात्रा के कार्यक्रम में धीमी शुरुआत होगी. किसी नए कार्य को अभी ना करें. नए विपरीत लिंगी मित्र से कुछ अलगाव होगा. सप्ताह का मध्य परिजनों के साथ आनंदपूर्वक दिन बीतेगा. रोमांटिक मूड बना रहेगा. सप्ताह के अंत में यात्रा व किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति के साथ बैठक सफल सिद्ध होगी. ससुराल से अच्छा समाचार मिलेगा. आर्थिक लाभ से कुछ नए प्रयोगात्मक विचारों की ओर रुझान बनेगा. कार्यक्षेत्र में बहुत सारे बदलाव के लिए आप तैयार रहे, नौकरी में उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे. पुराने सम्बन्ध से लाभ रहेगा.
उपाय- मंगलवार को हनुमान जी की उपासना करें और सुंदरकांड का पाठ करें.
प्रेम- आपके प्रेम संबंधों को लेकर यह सप्ताह अनुकूल सुख की अनुभूति कराएगा. प्रणय संबंधों में ताजगी बनी रहेगी. स्वतंत्र प्रेम करने वाले जातक अचानक भावुक कष्ट सहेंगे. सप्ताह का प्रारम्भ और मध्य सुखद रहेगा. सप्ताहांत में कुछ दूरी से उपेक्षित महसूस करेंगे. औसतन वैवाहिक सुख बराबर मिलेगा. नव युगल ऐच्छिक व्यवहार में सफल रहेंगे. साथी के साथ वैचारिक तालमेल में प्रगति होगी.
व्यापार- समय अनुकूल है, आज आपकी साख शिखर तक जाएगी. धन की दृष्टि से निश्चित लाभ है. धन कमाने के लिए नैतिक रास्ता ही अपनाएं. गलत व्यवहार से आप संकट में पड़ जाएंगे. दिन के मध्य में तेजी रहेगी.
उपाय- मंगलवार के दिन लाल रंग किसी वस्त्र को अवश्य धारण करें. ॐ भौमाय नमः – मंत्र का जाप करें.


वृष- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
इस सप्ताह आपको व्यवसायिक कार्यों के कारण कुछ तनाव रहेगा. किन्तु आपके प्रयास आपको नयी पहचान दिलाने में भूमिका निभाएँगे. आप किसी नई प्रॉपर्टी में निवेश के लिए कुछ परिश्रम करेंगे. कार्य में सफलता प्राप्त हो सकती है. सप्ताह मध्य में घर की कुछ परेशानी के साथ खर्चों को रोक नहीं पाएंगे. पिता व बुजुर्ग सदस्य की प्रेरणा से हौसला बना रहेगा. सामजिक कार्यों में रूचि बनी रहेगी. मनोरंजन, सिनेमा अथवा होटल इत्यादि स्थलों में जाने का कार्यक्रम बन सकता है. पारिवारिक कामों से मानसिक शांति प्राप्त होगी. पुराने मित्रों के साथ मुलाकात हो सकती है. रचनात्मक कार्य में बाहरी व्यक्ति सहायता करेंगे. सप्ताह मध्य में घर की कुछ परेशानी के साथ खर्चों को रोक नहीं पाएंगे. सप्ताह अंत में किसी नए वाहन का सुख मिलेगा.
उपाय- यदि आप वैवाहिक सुख में कुछ कमी पाते हैं, और आपको अपने जीवन भोग के साधनों में बहुत प्रयास के बाद भी प्रगति नहीं हो रही है तो आपकी जन्म कुंडली में शुक्र की स्थिति कमजोर है. ऐसे व्यक्ति के जीवन में दाम्पत्य रिश्ते खराब होते हैं. तनाव की स्थिति होती है. आप ये उपाय करें- शुक्रवार को चावल दान करें और मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा करें. श्रीसूक्त का पाठ करें. स्फटिक की माला धारण करें.
प्रेम- सप्ताह का प्रारम्भ आपके प्रेम संबंधों में कुछ नया सीखने के लिए है. किन्तु कुछ निजी व्यस्तता से साथी के नाराज होने के खतरे से आप बाख नहीं पाएँगे. लेकिन व्यस्तताओं के मध्य भी आप रोमांटिक मैसेज भेजकर साथी का मनोरंजन करते रहें. सप्ताह के मध्य में आप झूठे प्रेम का शिकार हो सकते हैं, साथी की आलोचना का जवाब ना दें, शान्ति से समय को काटे. आपका कल्याण होगा.
व्यापार- इस सप्ताह लाभ कमाने के बजाय अपने सहयोगियों को मजबूत करने में ध्यान लगाए, सप्ताह अंत में आपको भाग्य से सफलता प्राप्त हो रही है. सामान्य कारोबार के साथ आप महत्वपूर्ण अनुबंध भी करेंगे, जिससे आपके व्यापार का विस्तार होगा. धन की कमी नहीं होगी. आपके साफ़ सुथरी छवि से आपको लाभ होने वाला है.
उपाय- कुबेर देवता का ध्यान करें और ॐ कुबेराय नमः या ॐ शुक्राय नम: मंत्र का जाप करें.


मिथुन- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह
आपको इस सप्ताह पारिवारिक सदस्यों के साथ कुछ समझौते करने पड़ेंगे. कुछ प्रयास आपके आशा के अनुरूप सफलता की ओर ले जाएंगे. आमदनी में वृद्धि से मनोरंजन की गतिविधियों में समय व्यतीत होगा. घर में शुभ मंगल कार्य से शान्ति प्राप्त होगी. सप्ताह के मध्य में पिता और संतान से विवाद से बचें. इस सप्ताह धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियां की ओर विशेष रुझान रहेगा. मन में दुविधा की दुविधा से मुक्ति मिलेगी. नए काम के प्रारंभ में असफलता मिल सकती है. मित्रों से मधुर सम्बन्ध के योग है. जो लोग कोर्ट में या किसी विवाद में उलझे हुए है, उन्हें नयी आशा प्राप्त हो रही है. सप्ताह के मध्य में किसी यात्रा में कष्ट रहेगा. सप्ताह अंत में व्यर्थ किसी से ना उलझे मामला शान्त करना कठिन हो जाएगा.
उपाय- मिथुन राशि के स्वामी ग्रह बुध है. यदि आपको धन, वाणी सम्बन्धी कष्ट है, या आप गलत चुनाव और निर्णय के शिकार होते है तो आपकी कुंडली में कमजोर बुध है जो आपके करियर में बड़ी बाधा बन रहा है. बुध के खराब होने से व्यक्ति को बार-बार असफलताओं का सामना करना पड़ता है। उपाय – तांबे का कड़ा धारण करें. – गणेश जी की पूजा करें – गायों को हरा चारा खिलाएं – “ॐ गणेशाय नम:” का जाप करें.
प्रेम- आपके लिए सप्ताह का प्रारम्भ प्रेमालाप के लिए उत्तम रहेगा, लेकिन मध्य में समय आपके लिए प्रतिकूल फल प्रदान करगा. इस सप्ताह आपके भीतर प्रेम विषय को लेकर कुछ जल्दबाजी रहेगी, आप को साथी के साथ मिलकर ही चलना होगा अन्यथा आपके संबंधों में संतुलन नहीं बन सकता. सप्ताह के मध्य में आपका कोई अभिन्न मित्र अथवा परिवार का कोई व्यक्ति आपके संबंधों को मजबूत करने की दिशा में उपयोगी सिद्ध होगा. जिनकी प्रेम कहानी की अभी शुरुआत है वे रिश्ते की डोर कहीं ठीक से बैठाने में सफल होते नजर आ रहे हैं. घर से दूर जाकर रोमांस का कार्यक्रम इस सप्ताह उतना आनंददायक नही होगा.
व्यापार- सप्ताह की शुरुतात कमजोर होगी, किन्तु मध्य के बात कारोबार में तेजी आएगी. कुछ माल की हानि होगी, किन्तु आपकी सूझबूझ व निर्णय लेनी की उचित क्षमता से आप उस घाटे को पूरा करने में सफल होंगे. सरकारी तंत्र से किसी भी प्रकार के विवाद से दूर रहने में ही भलाई है.
उपाय- ॐ बुधाय नमः का जाप करें.


कर्क- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
इस सप्ताह आप मन की शांति के लिए अध्यात्म के लिए किसी से जुड़ सकते हैं. सप्ताह का प्रारम्भ धार्मिक कार्यों में आध्यात्मिक लोगों से मिलने का योग है. सप्ताह के मध्य में कुछ आर्थिक परेशानी से आपके स्वभाव में उग्रता आएगी. जीवन के किसी जोखिमभरे विचार-व्यवहार से आप परिचित होंगे. अनावश्यक यात्रा को टालें. निज वाहन को सावधानी से चलाएं. सरकारी कार्य में सफलता मिलने से पहले कुछ नुकसान हो सकता है. संतान को लेकर चिंतित रहेंगे. सप्ताह के अंत में लक्ष्मीदेवी की कृपा से आर्थिक लाभ होगा. बौद्धिक कार्य में संलग्न रहकर आप भीतर से नयी चेतना का अनुभव करेंगे. मित्रों और स्वजनों की तरफ से भेंट प्राप्त होगी. सप्ताह मध्य व अंत में आपके निवेश धन के सुखद समाचार प्राप्त होंगे. महिला जातक अपने आत्मविश्वास व्यवहार से पुरे सप्ताह ऑफिस में अपना दबदबा कायम रखेंगी. मित्रों का सहयोग रहेगा.
उपाय- यदि आपको उदर सम्बन्धी समस्या हैं. आपका पढाई में मन नहीं लगता है. आपको श्वास सम्बन्धी कोई कष्ट अक्सर होता है तो आपकी कुंडली में चंद्रमा पक्ष बल में कमजोर है या पाप ग्रहों से पीड़ित है. ये भी देखा गया है कि कुंडली में चंद्र की खराब स्थिति व्यक्ति को मानसिक रूप से भी कमजोर बनाता है. इसके लिए आप प्रत्येक पूर्णिमा के चंद्रमा को रात्रि में जल अर्पित करें और नियमित रूप से शिवालय में जल चढ़ाएं. ॐ श्रां: श्रीं: श्रौं: स: चंद्रमसे नम: – मंत्र का जाप आपके लिए लाभप्रद रहेगा। – इसके अलावा लगातार तीन माह तक चांदी के ग्लास में दूध का सेवन करें.
प्रेम- सप्ताह का आरंभ आपको कुछ उपेक्षित वातावरण मिलेगा किन्तु बाद में साथी के साथ बेहतर सम्बन्ध होंगे. व्यर्थ के खर्चों से आपकी प्रेम कहानी सरल नहीं रह पाएगी. जितनी चादर है उतने पैर फैलाइए. समझदारी से काम लेंगे तो ही आपके प्रेम संबंध लम्बे चलेंगे. सप्ताह के मध्य उपरांत आपके मन की अभिलाषा पूर्ण होगी. प्रेम में नाराजगी के स्तर पर बहुत आगे न जाए. साथी से किसी भी प्रकार से कड़वे वचनों का प्रयोग ना करें. अहंकार से दूर रहें.
व्यापार- साप्ताह मध्य के बाद खुद को अधिक व्यस्त पाएंगे. आत्माविश्वास बढ़ेगा. सांझेदार से विशेष सहयोग मिलेगा. नए अनुबंध से आशा की किरण उभरेगी. प्रारम्भ में लाभ नहीं किन्तु, लेन-देन ठीक रहेगा. सप्ताहांत तक अच्छे समाचार मिलेंगे.
उपाय- भगवान शिव की आराधना करें. नमः शिवाय का नियमित जाप करें. सोने से पहले और सुबह प्रातः सूर्योदय से पूर्व.


सिंह- मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
इस सप्ताह आप घर से दूर अथवा लंबी दूरी की यात्रा के प्रबंध में व्यस्त रहेंगे. सप्ताह की शुरुआत से ही व्यस्त रहेंगे. माता-पिता के साथ व्यवहार में संयम रखना पड़ेगा. संकल्पित विचारों पर विशेष मंथन होगा. व्यवसाय में मेहनत होने पर भी उत्तम परिणाम नहीं मिलेंगे परंतु आप निराश हुए बिना प्रयास करेंगे. सरकारी कार्य बिना बाधा के पूर्ण होंगे. सप्ताह के मध्य में कुछ आकस्मिक परिवर्तन होंगे. पुराने मित्रों से मुलाकात से नयी पहल हो सकती है. विद्यार्थी जातक सप्ताह के प्रारंभ से मध्य तक अध्ययन में विशेष रूचि ना होकर अन्य अभिरूचि के विषयों की तरफ झुकाव महसूस करेंगे. मित्रों व भाईयों का सम्मान बना रहेगा.
उपाय- यदि आपको आपके किये का सम्मान नहीं मिल रहा है. तो आपकी कुंडली में सूर्य खराब स्थिति में हैं. सूर्य की मजबूत स्थिति जहां व्यक्ति को समाज में सम्मानजनक दर्जा दिलाती है, वहीं कुंडली में इसका कमजोर होने का अर्थ है, अपयश व स्वास्थ्य की हानि करती है. ऐसे व्यक्ति अक्सर वाद-विवाद व कानूनी मामलों में भी उलझ जाते हैं. प्रात सूर्योदय से पूर्व उठने का अभ्यास करें, और सूर्य नमस्कार व प्राणायाम करें. सुर्याष्टकम् स्तोत्र का पाठ करें.
प्रेम- सप्ताह का प्रारम्भ आपके लिए लिए दोहरी मानसिकता का हो सकता है लेकिन शेष सप्ताह आपके प्रेम सम्बन्धों के लिए अनुकूल रहेगा. आप साथी के साथ पूरे मस्ती से समय बिता सकते हैं. सुगंध से आपको लाभ मिलेगा. इस सप्ताह आप साथी को अपने प्रभाव में ले लेंगे. जिन जातकों को अभी तलाश है वे सप्ताह के अंत तक प्रेम के मामले में आंशिक सफलता प्राप्त करेंगे. नव युगल प्रेमी अपने साथी के विचित्र व्यवहार से कुछ संशय में आएँगे. प्रेम की स्वीकृति का बाद भी आप कुछ चिंताग्रस्त रहेंगे.
व्यापार- इस सप्ताह आप अपने देनदारी से मुक्त हो सकते हैं, कारोबार से सप्ताह अंत तक आंशिक मुनाफा होगा. लाभ के लिए नए अवसर प्राप्त होंगे. किसी भी विवाद से दूर रहे, अपने व्यवसाय पर ही ध्यान दें. सप्ताह भर शत्रु परास्त रहेंगे. किसी को उधार ना दें. कार्यक्षेत्र में भी आप बहुत सारे नए लोगों से इस सप्ताह मिल सकते हैं. सावधानी से व्यवहार करें.
उपाय- पूर्व दिशा में गुलाब की पंखुड़ियों को डालें.


कन्या- ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
सप्ताह के प्रारम्भ से ही आपको लाभकारी संकेत प्राप्त होंगे. आप अपनी चतुराई से व्यक्तियों को अनुकूल बना लेंगे. जमीन-मकान और स्थायी संपत्तियों में निवेश करेंगे. कफ और सांस से संबंधित रोगों के शिकार हो सकते हैं. किसी निजी व्यक्ति के व्यवहार से कष्ट होगा. सप्ताह के मध्य के उपरान्त ही परिस्थिति सुधर जाएंगी. परिवार के लोगों से सहयोग मिलेगा. विदेश संपर्क से निश्चित लाभ होगा. विद्यार्थी जातकों के फालतु आमोद- प्रमोद की आदतों में लगाम ना लगाने के कारण धन का अपव्यय होगा. आफिस में स्त्री वर्ग का सम्मान करें.

उपाय- बुध के खराब होने से व्यक्ति को बार-बार असफलताओं का सामना करना पड़ता है। उपाय – तांबे का कड़ा धारण करें. गायों को हरा चारा खिलाएं – “ॐ गणेशाय नम:” का जाप करें.
प्रेम- सप्ताह मध्य में अपने प्रेम संबंधों के विषय में कुछ आलोचना से आप विचलित हो सकते हैं. प्रेम में कोई बाधा नहीं आएगी. सप्ताह अंत उचित समय आने पर आप की छवि निखर के आएगी, विरोधी परेशान रहेंगे. युवा युगल अपने आसपास के लोगों से एक उचित दूरी बनाकर रखेंगे तो लाभ की स्थिति में रहेंगे. सात्विक प्रेम का प्रदर्शन करेंगे. अपनी निजी प्रेम की बातों को किसी के साथ भी साँझा ना करें, अन्यथा आपके भरोसे को ठेस पहुचेगी.
व्यापार- सप्ताह अंत में आपका एक गलत निर्णय आपके कारोबार को नुक्सान पंहुचा सकता है, जल्दबाजी और आवेश में रहकर किसी के साथ कोई नया अनुबंध ना करें, सप्ताह के मध्य में अति व्यस्तता के शिकार होंगे. किन्तु प्रतिकूल परिस्थितयों का सामना करने के आपकी कला से आप समाधान करते रहेंगे. करना पड़ेगा.
नित्य उपासना-  
कार्यालय व उत्तर दिशा में मुख करके लक्ष्मी का ध्यान करके चावल के कुछ दाने भूमि पर बिखेरें.

 


तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
इस सप्ताह नकारात्मक विचारों के कारण कुछ कार्यों में पिछड़ सकते हैं. घर में समाधानकारी प्रवृत्ति को अपनाने से शान्ति बनी रहेगी. पितृपक्ष की ओर से लाभ होगा. किन्तु संतान के ऊपर आवश्यकता से अधिक खर्च होगा. पारिवार की कुशलता के लिए आप भावुकता में बहने के स्थान पर व्यवहारिक दृष्टिकोण अपनाएं. उदर संबंधी बीमारियों से शरीर में अस्वास्थ्य महसूस करेंगे. किसी बाहरी व्यक्ति के साथ वाद-विवाद में न पड़ें. इस सप्ताह के मध्य में नए कार्य की शुरूआत न करें. सप्ताह के अंत में मित्रों के सहयोग से विरोधियों पर विजय प्राप्त कर सकेंगे. धार्मिक कार्यों में भागीदारी से सुकून महसूस करेंगे. मित्रों तथा रिश्तेदारों के साथ किसी विशेष यात्रा की योजना पर चर्चा होगी. जो लोग ग्लैमर की दुनिया से जुड़े है वे इस सप्ताह अपने प्रयासों में सफल रहेंगे.
उपाय- शुक्रवार को चावल दान करें और मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा करें. श्रीसूक्त का पाठ करें. स्फटिक की माला धारण करें. लक्ष्मी गायत्री का ध्यान करें. चांदी के 2 सिक्के तिजोरी में रखें.
प्रेम- आपके प्रेम-सम्बन्ध के लिए सप्ताह का आरंभ अच्छा कहा जा सकता आध्यात्मिक अनुभूतियों के साथ एकांत समय आपके रोमांस के नए अनुभव का समय सिद्ध होगा, इसका प्रभाव सप्ताह के अंत तक रहेगा. भविष्य की योजानाओं से प्रेम संबंधों को नयी मजबूती की राह मिलेगी. यदि आप अभी नए प्रेमी युगल है तो इस सप्ताह कुछ विशेष समारोह में जा सकते हैं. विवाहित जातक दाम्पत्य सुख और आनंद का नए तरीके से अनुभव करेंगें. रोमांस में आप अनुकूल माहौल का लाभ उठा सकते हैं. अवसर देख कर साथी को उनकी पसंद का कोई उपहार भेंट करें.

व्यापार- फैक्ट्री व दूकान से सम्बंधित किसी नए निर्माण कार्य में व्यस्त रहेंगे. धन लाभ होगा. कारोबार के लिए पूर्व अनुबंधों के परिणाम से धन लाभ होगा. सप्ताह अंत से पहले काफी अनुकूल स्थिति रहेगी. उधार लेने वालों से दूर रहे. सप्ताह अंत में माल की बिक्री में अप्रत्याशित वृद्धि होगी. पुराने संबंधों से लाभ होगा.
नित्य उपासना- शुक्र तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:


वृश्चिक- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
सप्ताह के आरंभ में बुध के आपकी राशि से दुसरे स्थान पर गोचरस्थ हैं. धन सम्बन्धी कार्यों में विशेष पुरुषार्थ करेंगे. किन्तु ज्यादा साहस दिखाने के चक्कर में आपके हाथ से कोई महत्वपूर्ण अवसर निकल भी सकता है. आर्थिक मोर्चे पर कोई बड़ा फटका लग जाने की आशंका है. सप्ताह के मध्य में जानकार व्यक्ति के अभाव में निर्णय शक्ति कमजोर हो सकती है. किसी निकट सम्बन्धी व मित्र के किसी समारोह आप व्यस्त रहेंगे. किसी पुराने मित्र से मुलाकात होगी. सप्ताह के अंत में मानसिक चिंता से राहत मिलेगी. नए कार्यों को प्रारम्भ करने के लिए स्थिति आपके लिए अनुकूल नही है. नौकरी करने वाले जातकों को वरिष्ठ अधिकारी के सहयोग से पोजीशन में सुधार होगा.
उपाय- यदि आप किसी अज्ञात बैचेनी से परेशान है. आपको किसी कार्य को करने पर भी आराम नहीं मिलता है. तो आप ये उपाय करें. मंगलवार को गरीबों को मिठाई खिलाएं. मंगलवार को कुछ धन दान करें. पारिवारिक कलह शान्त हो जाएंगे. मंगलवार को हनुमान जी की उपासना करें और सुंदरकांड का पाठ करें
प्रेम- सप्ताह का आरंभ आपके लिए प्रेम संबंधों में नयी ऊर्जा वाला होगा. कहीं भ्रमण के लिए जा सकते हैं. नव युगल घर से अधिक दूर की यात्रा ना करें. सप्ताह के मध्य में प्यार में नयी मंजिल मिलेगी. जो अविवाहित है वे अभी किसी के साथ कोई ज्यादा गंभीर प्रेम के चक्कर में ना पड़े. यह सप्ताह आपके प्रतिकूल हो रहा है, किसी पर आँख मूँदकर विश्वास तो कर लें लेकिन ऎसा ना हो कि बाद में आपको पछताना पड़ जाए. संबंधों के विषय में किसी से चर्चा करने की जल्दी भी ना करें. निकट व नयी जगह में जाकर रोमांस की संभावना है.
व्यापार- इस सप्ताह आप काफी भागदौड़ के बाद औसत कारोबार कर पाएंगे. सप्ताह के अंत लाभकरी सौदों की आशा बनेगी. आपके नए संपर्कों से आय के नए साधन उपलब्ध होंगे. किसी की अनावश्यक जिम्मेदारी ना लें.
नित्य उपासना- मंगल तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम:


धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
इस सप्ताह आप सरकारी कामकाज में सफल हो सकते है. किसी अपने निकट के व्यक्ति के कारण गुस्से के शिकार होंगे. सप्ताह का मध्य अच्छा रहेगा. परिवारिक खुशी और सुख शांति की दृष्टि से अच्छा है, शुभ समाचार मिलेगा. आपके काम की सराहना की जाएगी. धर्म के काम में रुचि रहेगी. लघु यात्रा से मनोबल बढ़ेगा. आप नए लोगों से सम्पर्क करने में ज्यादा व्यस्त दिखाई देंगे. नौकरी में बॉस आपके काम में सहायता नहीं करेंगे. वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं क्योंकि कोई अप्रिय घटना घट सकती है. कार्यस्थान में कुछ बदलाव आ सकता है. सप्ताह के अंत में आप अपनी इच्छापूर्ति करने में सफल रहेंगे.
उपाय– यदि आपकी स्मरण शक्ति कमजोर है, और आपके अन्दर जिम्मेदारी से कोई कार्य करने की क्षमता लगातार घट रही है, तो आपकी कुंडली में गुरु की स्थिति खराब है. ऐसे जातक आर्थिक रूप से बहुत अधिक सम्पन्नता प्राप्त नहीं करते. बृहस्पतिवार का व्रत करें – गुरुवार को श्रीकृष्ण को पुष्प अर्पित करें, सप्ताह में किसी भी दिन सूर्योदय से पूर्व जल में गुड़ मिलाकर केले की जड़ में डालें. – आलू पर हल्दी लगाकर गायों को खिलाएं. – मंदिर में चने की दाल का दान करें.
प्रेम- इस सप्ताह में नये प्रेम संबंध में बंधना चाहते हैं, वे कुछ अवरोध के बाढ़ सफल हो जाएंगे. आप प्रपोज करने में पहल कर सकते हैं. विवाहित जोड़ों के बीच प्रेम वार्ता सप्ताह के प्रारम्भ से मधुर रहेगी. जो नव युगल है, वे धीर- धीरे ही एक दुसरे को ठीक से समझ सकते हैं. अपनी बात मनवाने के लिए हाथ ना करें. एक-दूसरे पर विश्वास के साथ प्रेम पनपता है. सप्ताह के मध्य में अपने प्यार को पाने के लिए जूनून के भाव में रहेंगे. प्रेम संबंधों को मजबूत करने की दिशा में आप निकट के व्यक्ति की सहायता प्राप्त करेंगे.
व्यापार- इस सप्ताह आप सहज तरीके से कारोबार करते हुए धन लाभ करेंगे. पिछले प्रयासों के परिणाम ही और देव कृपा से सप्ताह के प्रारम्भ से ही अच्छा कारोबार करेंगे. आप एक कुशल व्यापारी के रूप में धन और यश दोनों ही कमाएंगे. किसी को उधार रकम ना दें.
नित्य उपासना- सोना धारण करें, और गुरूवार को हल्दी का दान करें. नमो भगवते वासुदेवाय – मंत्र का नियमित जाप करें.


मकर- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
इस सप्ताह आप घर के किसी सदस्य की चिकित्सा में व्यस्त हो सकते है. अविवाहित जातक किसी नए प्रस्ताव को प्राप्त करंगे. आप अपने विचारों और आदर्शों से कोई समझौता नहीं करेंगे. सप्ताह के मध्य में नई वस्तुएं खरीदने के योग है. आप किसी सामाजिक समारोह में भी भाग लेंगे. कुछ बातों को छोड़ कर सप्ताह आनंदपूर्वक गुजरेगा. महिलाओं को मेहनत के बावजूद अपेक्षित परिणाम नहीं मिलेंगे. संतान के साथ रिश्ते में प्रेम भाव बना रहेगा. बच्चों से शुभ समाचार मिलेंगे. सप्ताह अंत तक रोगग्रस्त जातक के स्वास्थ्य में सुधार होगा. परिवार में किसी बड़ी जिम्मेदारी का बोझ आपके कन्धों पर आ सकता है.
उपाय– यदि आप निर्णय लेने में गड़बड़ी करते है. किसी काम को प्रारम्भ करके बीच में छोड़ देते हैं तो आपकी जन्म कुंडली में शनि की खराब स्थिति है. शनि की खराब दशा व्यक्ति दरिद्र बनाती है. शारीरिक चोट का भय रहता है- जहां तक संभव हो काले कपड़े पहनने से बचें. शनिवार के दिन तो काले रंग का कुछ भी ना पहनें. – शनिवार को पीपल के पेड़ में जल डालें और इसके नीचे सरसों तेल का दीपक जलाएं. हनुमान चालीसा का पाठ करें. 
प्रेम- आपके प्रेम प्रसंग के लिए यह सप्ताह मिश्रित फल वाला है. सप्ताह के प्रारम्भ में आप अपने साथी के वैचारिक मत को लेकर असमंजस में रहेंगे. सप्ताह के मध्य में आप किसी ठोस निर्णय पर पहुंचेगे. अविवाहित जातकों के लिए साथी के साथ विरह के दुखद योग से सप्ताह का अंत हो एकता है. विवाहित जातक सप्ताह भर में हल्का मनोरंजन का आनंद लेंगे.
व्यापार- आप एक सफल कारोबारी के रूप में अपनी पहचान पाएंगे. सांझेदारी बिज़नेस में जो लोग है, वे भी इस सप्ताह धन लाभ के साथ अच्छी साख प्राप्त करेंगे. आज आप अकेले ही महत्वपूर्ण निर्णय करेंगे, जिनका सकारात्मक परिणाम आपको मिलेगा.
नित्य उपासना- मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की उपासना करें.


कुंभ- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
इस सप्ताह आप पति-पत्नी के संबंधों में तनाव होगा. विद्यार्थियों के लिए यह सप्ताह शुभ होगा, किन्तु कुछ मित्रों से नुक्सान हो सकता है. नौकरी करने वाले जातकों की आर्थिक स्थिति कमजोर पड़ सकती है. सप्ताह के मध्य में प्राप्त सफलताओं से आप अपनी क्षमता पर भरोसा रखकर काम करेंगे. सामाजिक व्यवहार से आपके सम्बन्ध अधिक मजबूत होंगे. आप ऊर्जा व जोश का अनुभव करेंगे. सप्ताह के प्रारम्भ में मित्रों के सहयोग से किस मनोरंजन कार्य के आयोजन में आनंद लेंगे. अनावश्यक यात्रा का कार्यक्रम रद्द होगा.

उपाय- यदि आपके शरीर में आलस्य है, आपकी कल्पना शक्ति आपके संबंधों व कार्यों में बाधा बनती है तो आप शनि चालीसा का पाठ करें. शनिवार को पीपल के पेड़ में जल डालें और इसके नीचे सरसों तेल का दीपक जलाएं.
प्रेम- इस सप्ताह आप भावुकता में रहेंगे. नव युगल सप्ताह के प्रारम्भ में मधुर संबंधों को मजबूत करने में फल रहेंगे. भ्रमण के लिए रमणीक स्थल पर जाने का कार्यक्रम सप्ताह मध्य को यादगार बना देगा. विवाहित जातकों को सप्ताह के अंत में साथी के विशेष सहयोग व अनुकूल विचारों से प्रसन्नता मिलेगी. अविवाहित जातक आप नीतिगत तरीके से ही प्रेम को हासिल करेंगे. परिवार का सहयोग भी उपलब्ध होगा.
व्यापार- सरकारी तंत्र से कोई परेशानी आएगी, और कारोबार में कुछ नुकसान के साथ कुछ स्वास्थ्य सुख में कुछ कमी हो सकती है. धन को लेकर चिंता ग्रस्त रहेंगे. संपत्ति व माल को लेकर कुछ सुधार कार्य होगा. धन को लेकर कुछ प्रस्ताव पर विचार हो सकता है. कुल मिलाकर सप्ताह अंत तक कारोबार उतना अनुकूल नहीं है, जितना होना चाहिए.
नित्य उपासना- शनिवार के दिन घर व कार्यालय के पश्चिम दिशा की ओर मुख करके ॐ शं शनिश्चराय मंत्र का पाठ करें.


मीन- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची

सप्ताह का आरंभ के दिनों सामान्य उपलब्धियों से संतोष करना पड़ेगा. विद्यार्थियों के लिए यह समय कुछ उथल पुथल का हो सकता है. आप यदाकदा लक्ष्य से विचलित हो सकते हैं. माता व स्त्री वर्ग की तबीयत में कुछ गिरावट रहेगी. कार्य में रचनात्मक रुप से सक्रिय रहेंगे. नौकरी बदलने पर विचार करने वाले निराश रहेंगे. घर-परिवार में खुशी व आनंद का वातावरण रहेगा. सप्ताह अंत में नया परिवर्तन आएगा. पारिवारिक सदस्यों के बीच आत्मीयता में बढ़ोतरी होगी. वृद्ध जातक भविष्य को लेकर चिंतित रहेंगे, और आत्म मंथन करेंगे.
उपाय- बृहस्पतिवार का व्रत करें – गुरुवार को श्रीकृष्ण को पुष्प अर्पित करें, सप्ताह में किसी भी दिन सूर्योदय से पूर्व जल में गुड़ मिलाकर केले की जड़ में डालें. मंदिर में चने की दाल का दान करें.
प्रेम- सप्ताह का आरंभ प्रेम संबंधों के लिए लिए दोहरे मापदंड रहेगा, किन्तु मध्य तक आप प्रेम संबधों को सर्वोपरि मानकर ही अनुकूल व्यवहार करेंगे. युवा जातक साथी के साथ सप्ताह मध्य तक ठीक से मुलाकात नहीं कर पा रहे हैं. विवाहित जातक बाहर जाकर पुरानी यादें ताजा करने की योजना बना सकते हैं. सप्ताह अंत तक खास पलों के साथ प्रणय सम्बन्ध का आनंद लेंगे.
व्यापार- यह सप्ताह आपके लिए अच्छे लाभ का है, सप्ताह मध्य तक प अपनी कुशलता और बुद्धि के बलबूते उन्नति करेंगे. खर्चों के मुकाबले आय अधिक होगी. आज समय बेहद अनुकूल है, समय की उपयोगिता को समझते हुए, कार्य पर ध्यान दें. सांझेदारी से लाभ होगा. सप्ताह अंत कुछ नयी जिम्मेदारी के साथ होगा. आर्थिक क्षेत्र में उन्नति हो रही है.
नित्य उपासना – गुरूवार के दिन कार्यालय के उत्तर पूर्व दिशा में मुख करके नमो भगवते वासुदेवाय – का 108 बार जाप करें. वहां एक अगरबत्ती जलाएं.

ज्योतिष व वास्तु सम्बन्धी किसी भी समस्या के समाधान के लिए संपर्क सूत्र .
आचार्य मदन

(प्रवक्ता, सर्वज्ञ शारदा पीठ, शांकर मठ, कश्मीर)
श्रीराम आश्रम, सत्यम विहार, ऋषिकेश मार्ग, हरिद्वार.
09911438929

Loading...