साप्ताहिक राशिफल: 15 जनवरी से 21 जनवरी 2018

275
  • आचार्य मदन जी ,सर्वज्ञ शारदा पीठ, शांकर मठ, कश्मीर, द्वारा निर्मित आप का साप्ताहिक राशिफल.

    साप्ताहिक राशिफल
    15 जनवरी से 21 जनवरी 2018
    विक्रमी संवत-2074, शक संवत- 1939, दिल्ली


    मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
    इस सप्ताह आपको किसी अपिरिचित व्यक्ति से कुछ विशेष लाभ हो सकता है. उच्च शिक्षा के कारण आपको कुछ नए लोगों से मिलने का योग है, जिससे आपको दूरगामी लाभ मिलेंगे. इस सप्ताह यात्रा के मामले में आप थोड़े कष्ट के बाद ही अपने कार्य को व्यस्थित कर पाएंगे. किन्तु किसी नए कार्य को लेकर आपकी दुविधा से आप कुछ चिंतित हो रहे है. सप्ताह के अंत तक कहीं हद तक आपको समाधान प्राप्त हो सकता है. सप्ताह का मध्य आर्थिक स्थिति को लेकर कुछ नए निर्णय से आप निशाने पर आ सकते हैं. सप्ताह के अंत में कोई नए प्रयोग से बचे, ससुराल से सम्बन्ध में कुछ दूरी के साथ सांझा कार्यक्रम बन सकते हैं. नौकरी में आप कार्य को लेकर गलत निर्णय के कारण सम्मान में कुछ कमी महसूस कर सकते हैं.
    उपाय- मंगलवार को हनुमान जी की उपासना करें और बजरंग बाण का पाठ करें और एक चांदी का टुकड़ा अपनी जेब में रखें.
    प्रेम- आपके प्रेम संबंधों को लेकर यह सप्ताह थोड़ा बदलाव लाएगा. धैर्य से आप अपने मनोभावों को साथी को समझाने में सफल रहेंगे. प्रेम विवाह के इच्छुक जातक किसी नयी जगह पर भ्रमण करेंगे. सप्ताह का प्रारम्भ और अंत आनंद से बीतेगा. विपरीत लिंगी आकर्षण के कारण आप संकट में पड़ सकते हैं, बातचीत में संतुलन बनाके रखें.
    व्यापार- इस सप्ताह समय लाभकारी योजना के क्रियान्वहन में व्यतीत होगा. अर्थ लाभ की दृष्टि से नए समीकरण सिद्ध होंगे. धन कमाने के लिए सहयोगियों का मार्ग दर्शन व सुझाव प्राप्त हो रहा है. वृद्ध व्यक्ति से नए सौदें से बचे.
    उपाय- ऑफिस में उत्तर दिशा में कोई भी भारी सामान ना रखें. मंगलवार के दिन लाल रंग के किसी वस्त्र को अवश्य धारण करें.
    नित्य उपासना- मंगल तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम: .

    वृष- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
    इस सप्ताह आपको व्यवसायिक कार्यों के कारण आप किसी नए रास्ते की तलाश में पुराने मित्रों की सलाह लेने की भूल ना करें. आप स्वयं ही निर्णय लेने में सक्षम है, जो इस सप्ताह आपके लिए अनुकूल परिणाम लाएगा. आप किसी नई प्रॉपर्टी में कुछ बाधाओं को पार करने में मित्रों की सहायता प्राप्त करेंगे. सप्ताह मध्य में घर के सदस्यों से आपका तालमेल कुछ बिगड़ सकता है. किन्तु घर के कार्यों में बाधाएं आप मिलकर दूर करने में सफल हो रहे हैं. पुराने मित्रों से आप नयी शुरुआत से आप जीवन में नयी ऊर्जा अनुभव करेंगे. संतान के साथ कुछ परेशानी अनुभव होगी. खर्चों से परेशान होने के बाद भी आप यह सप्ताह आनंद से व्यतीत करेंगे.
    उपाय- यदि आप संपत्ति के मामले में अपने को उतना सौभाग्यशाली नहीं मानते तो आप ये उपाय करें- शनिवार को काले तिल का दान करें और शुक्ल पक्ष में हस्त नक्षत्र में वास्तु पूजा करें. स्फटिक की माला धारण करें.
    प्रेम- सप्ताह का प्रारम्भ आपके देह सुख और भावना की संतुष्टि के लिए बेहद अनुकूल है. मनोरंजन के योग है. प्रेम संबंधों में सावधानी से आगे बढ़ें, आपका उतावलापन बीच में बीच में कुछ अलगाव की स्थिति बना सकता है. सप्ताह के मध्य में आप किसी बात को लेकर आपस में असहमत हो सकते हैं, किन्तु प्रेम की डोर बनी रहेगी.
    व्यापार- इस सप्ताह लाभ कमाने के नए अवसर पर विशेष रणनीति पर काम होगा. नए अनुबंध से आपको लाभ कम होगा. अतः अनुभव से काम करें. सप्ताह अंत में आपको आंशिक लाभ से ही संतोष करना पड़ेगा. व्यापार का विस्तार किसी बात को लेकर बाधित हो सकता है.
    उपाय- नित्य सूर्योदय से पूर्व स्नान करके गणेश जी का पूजन करें. गाय को मीठा भोजन खिलाएं.
    नित्य उपासना- शुक्र तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:

    मिथुन- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह
    आपको इस सप्ताह पारिवारिक माहौल से आप विचलित हो रहे हैं. पत्नी के सहयोग से आपको कुछ जिम्मेदारी से मुक्ति प्राप्त होगी. आमदनी के नए नए योजनाओं पर चिंतन होगा. पत्नी के साथ मनोरंजन और सामंजस्य बना रहेगा. संतान के साथ किसी बात को लेकर गंभीर बातचीत होगी. आध्यात्मिक रूचि के कारण किसी नए व्यक्ति से मुलाकात होगी. सप्ताह के मध्य में पुरानी किसी दुविधा का अंत होगा. नए काम की योजना को टाल दें. कोर्ट में विशेष राहत रहेगी. सप्ताह अंत में कुछ आर्थिक कष्ट हो सकता है.
    उपाय- बुधवार को सायं काल सूर्योदय के बाद विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें, और किसी भी एक दिन सूर्योदय के समय गायों को हरा चारा खिलाएं-
    प्रेम- आपके लिए सप्ताह निकटता बनेगी, किन्तु साथी की भावना के प्रति ध्यान नहीं लग पाएगा. प्रेम अधुरा रहेगा. सप्ताह मध्य में समय आपके लिए प्रतिकूल फल प्रदान करगा. इस सप्ताह आपके भीतर प्रेम विषय को लेकर कुछ जल्दबाजी रहेगी, आपके संबंधों में संतुलन नहीं बन रहा है, जिसके लिए आप थोड़ा विचलित हो सकते हैं.
    व्यापार – सप्ताह की शुरुतात से नयी चुनौती मिलेगी, सफलता के लिए विशेष अनुभव से काम लेना होगा. पुराने किसी सहयोगी के प्रयास से कारोबार में लाभ हो सकता है. किसी पुराने निर्णय की हानि की भरपाई के लिए प्रयास सफल होगा. किसी भी प्रकार के विवाद से दूर रहे.
    उपाय- ॐ बुधाय नमः का जाप करें. स्वर्ण धारण करें.
    नित्य उपासना- राहु तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ भ्रां भ्रीं भ्रों स: राहवे नम:

    कर्क- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
    इस सप्ताह धार्मिक कार्यों से लोगों का मन जीत लेंगे. कुछ विदेशी अथवा उच्च शिक्षा से जुड़े लोगों से मिलने का योग है. संतान को लेकर चिंता बनी रहेगी. नए कार्य से मन हटेगा. पुराने मित्र से आप कुछ विशेष कार्यक्रम की योजना बना सकते हैं. सप्ताह के मध्य व अंत में आपको अच्छे समाचार प्राप्त होंगे. नौकरी करने वाले जातक ऑफिस में पदोन्नति के नए अवसर का लाभ लेंगे. मान-सम्मान में वृद्धि होगी.
    उपाय- चंद्र की खराब स्थिति व्यक्ति को मानसिक रूप से भी कमजोर बनाता है. इसके लिए आप शुक्ल पक्ष में सोमवार, बुधवार, व शुक्रवार को किसी एक दिन उपवास करें. ॐ श्रां: श्रीं: श्रौं: स: चंद्रमसे नम: – मंत्र का जाप करें. देर रात्रि तक ना जगे.
    प्रेम- सप्ताह का आरंभ आपके प्रेम के लिए यह सप्ताह अनुकूल है. प्रेम के लिए आप जुनूनी भावना के शिकार हो सकते हैं. अपनी निजी प्रेम की बातों को किसी के साथ भी साँझा ना करें, अन्यथा आपके भरोसे को ठेस पहुचेगी.
    व्यापार- इस सप्ताह आप कारोबार में किसी नए सौदे में उलझ जाएंगे. अति आत्मविश्वास के कारण आप जोखिम के शिकार होंगे. किन्तु किसी सांझेदार से विशेष सहयोग के कारण आप सुरक्षित व्यवसाय में सफल हो सकते हैं. सप्ताहांत तक अच्छे समाचार मिलेंगे.
    उपाय- शुक्रवार को भगवान शिव की आराधना करें. नमः शिवाय का नियमित जाप करें. एक मुखी रुद्राक्ष सोमवार के दिन धारण करें.
    नित्य उपासना- चंद्र तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चन्द्रमसे नम: .

    सिंह- मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
    इस सप्ताह आप मन में कुछ उदास के कारण किसी धार्मिक संकल्प को करने में भूल करेंगे. 15 तारीख से सूर्य के सिंह राशि से छठे स्थान में भ्रमण करने से नौकरी व व्यवसाय में सफलता मिलेगी. केतु के अब युति में आने से नयी नयी चुनौतियाँ आपके समक्ष उत्पन्न होंगी. स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखें. भाइयों के साथ अनबन व उच्च अधिकारी आपके काम से खुश रहेंगे. 19 और 20 का दिन कार्यस्थल और परिवार में मिलन का वातावरण रहेगा. घर के लिए कोई नई वस्तु खरीद सकते हैं. सरकारी कार्य बिना बाधा के पूर्ण होंगे. विद्यार्थी जातक इस सप्ताह अध्ययन में गंभीर रहेंगे.

    उपाय- यदि आप किसी कोर्ट के मुकदमे अथवा विवाद में लम्बे समय से उलझे है तो प्रात सूर्योदय से पूर्व उठकर, घर से पश्चिम दिशा में कर्पूर को जलाकर शत्रु अथवा विरोधी का नाम लेकर भूमि पर नमकीन व मीठा भोजन छोड़े. सुर्याष्टकम् स्तोत्र का पाठ करें.
    प्रेम- सप्ताह का प्रारम्भ आपके लिए रोमांस से भरपूर जीवन के आनंद से होगा. अपने प्रेम रिश्तों में छाई उदासी को दूर कर सकते हैं. सप्ताह के मध्य में साथी से दूर होना पड़े तो भी प्रेम बना रहेगा. अगर आप विवाहित हैं तो इस सप्ताह आपके जीवनसाथी को स्वास्थ्य संबंधी समस्या परेशान कर सकती है, अतः उनकी सेहत को लेकर कोई लापरवाही न बरतें. नव युगल प्रेमी अपने साथी के साथ बेहतर तालमेल बिठाने में सफल हो रहे हैं. गुरु की कृपा से दाम्पत्य जीवन ठीक रहेगा.
    व्यापार- इस सप्ताह आप ऑफिस के जिम्मेदारियों से कुछ राहत पा रहे हैं. नयी जगह पर आर्थिक लाभ के योग है. दक्षिण व पूर्व दिशा से आपको रुका धन आ रहा है. लाभ के लिए सप्ताह के मध्य तक प्रतीक्षा करें. व्यवसाय के तरीके में नया विचार आएगा. सोच समझकर निर्णय करें, सप्ताह अंत में कुछ नयी परेशानी से सामना होगा.
    उपाय- पूर्व दिशा में मुख करके भगवान गणेश जी का ध्यान करें. बुधवार के दिन गुड़ का दान करें.
    नित्य उपासना- सूर्य तांत्रिक मंत्र- ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:

    कन्या- ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
    सप्ताह सूर्य का आपकी राशि के पंचम स्थान में भ्रमण कर रहे हैं, जिससे आप अपने पूर्व के लंबित कार्यों से मुक्त हो जाएंगे. वस्त्र और आभूषण की खरीदारी की वजह से आपका बजट अस्थिर हो सकता है. अपच जैसे पेट के रोगों से आराम मिलेगा. सप्ताह के मध्य में अचानक से मुश्किल खड़ी हो सकती हैं. उच्च अधिकारियों के साथ तनाव हो सकता है. दुर्घटना का भय रहेगा. परिवार के भविष्य को लेकर सोच-विचारकर निर्णय लें. शुक्रवार का दिन सरकारी नौकरी वाले जातकों के लिए फायदेमंद रहेगा. किसी निजी व्यक्ति के व्यवहार से कष्ट बना रहेगा. विद्यार्थी जातक अपने समय को उचित उपयोग करने में पूर्णतः सफल नहीं होंगे. बुध के खराब होने से व्यक्ति को स्मृति क्षमता में कमी महसूस होती है.
    उपाय- तिलक धारण करें. गायों को हरा चारा खिलाएं – गायत्री मन्त्र का 108 बार जाप करें.
    प्रेम- सप्ताह मध्य में अपने प्रेम संबंधों में निरंतर उलझते जा रहे हैं. साथी की भावनाओं का समझे और व्यवहारिक सोच से आगे बढ़े. विवाहित जातक इस बात का विशेष ख्याल रखें कि जीवनसाथी पर किसी बात को लेकर शक न करें. अगर ऐसी परिस्थितियां बनती हैं तो मौन रहकर उचित समय की प्रतीक्षा करें, क्योंकि बेवजह के विवाद से आपके वैवाहिक रिश्तों पर असर पड़ सकता है. युवा जातक कुछ परेशान रहेंगे. निजता भंग होगी.
    व्यापार- एक गलत निर्णय से आप इस सप्ताह कुछ सुधार के साथ सहयोग प्राप्त करेंगे. आपके कारोबार आर्थिक रूप से मिश्रित परिणाम की और है. जल्दबाजी और आवेश में रहकर किसी के साथ कोई नया अनुबंध ना करें, सप्ताह के मध्य और अंत में आपके बैंक बैलेंस में वृद्धि होगी.
    उपाय- लक्ष्मी की आराधना करें. पत्नी के साथ बुधवार अथवा शनिवार को मंदिर जाकर पूजा करें.
    नित्य उपासना- बुध तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:

    तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
    इस सप्ताह पत्नी और संतान की ओर से पूर्ण सहयोग मिलेगा. किन्तु सप्ताह के मध्य तक वित्तीय नुकसान के योग के बाद भी आप किसी नए लाभ से खुद को सक्रिय रखेंगे. मित्रों के साथ मनोरंजन होगा. जातकों का मन पढ़ाई से हटकर कुछ नया करने का हो रहा है. अदालती मामले व नौकरी के प्रबंध को लेकर आप पर नया दायित्व आ सकता है. आप अपने कौशल और विवेक से कुछ लाभ की स्थिति में है. काम में लोगों की मदद मिलेगी. पूजा – पाठ से घर में खुशी का माहौल होगा. किसी सत्संग से आपके जीवन में आध्यात्मिक आनंद आएगा. ग्लैमर और मीडिया के साथ सम्बन्ध होगा.
    उपाय- शुक्रवार को चावल व कुछ धन का दान करें और मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा करें. श्रीसूक्त का पाठ करें. स्फटिक की माला धारण करें.
    प्रेम- आपके प्रेम-सम्बन्ध के लिए सप्ताह कुछ असंयमित घटनाओं वाला है , आप अपने क्रोध को नियंत्रित न करने के कारण दाम्पत्य जीवन के सुखों में कमी महसूस करेंगे. कुछ समझौते के बाद ही प्रेम संबंधों को नयी मजबूती मिलेगी. रोमांस में आप अनुकूल माहौल के अवसर की तलाश में सप्ताह के अंत होगा. यह सप्ताह आपके अनुकूल नहीं है.
    व्यापार- नए निर्माण कार्य में व्यस्त की व्यस्तताओं के बाद भी धन लाभ के लिए विशेष पुरुषार्थ में आप सफल रहेंगे. कारोबार के लिए पूर्व अनुबंधों के परिणाम से धन लाभ होगा. बैंक के किसी विवाद में आप परेशान रहेंगे. किसी कर्मचारी के साथ विवाद से सप्ताह का अंत सुखद नहीं रहेगा. उधार लेने वालों से विवाद ना करें, धैर्य से काम लें. पुराने संबंधों से लाभ होगा. बाहर की किसी यात्रा का कार्यक्रम टल सकता है.
    उपाय- श्री यन्त्र की पूजा करें, ऑफिस में एक स्फटिक की एक पेंसिल रखें.
    नित्य उपासना- शुक्र तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:

    वृश्चिक- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
    सप्ताह के आरंभ में बुध के आपकी राशि से दुसरे स्थान पर गोचरस्थ हैं. धन सम्बन्धी कार्यों में विशेष पुरुषार्थ करेंगे. किन्तु ज्यादा साहस दिखाने के चक्कर में आपके हाथ से कोई महत्वपूर्ण अवसर निकल भी सकता है. आर्थिक मोर्चे पर कोई बड़ा फटका लग जाने की आशंका है. सप्ताह के मध्य में जानकार व्यक्ति के अभाव में निर्णय शक्ति कमजोर हो सकती है. किसी निकट सम्बन्धी व मित्र के किसी समारोह आप व्यस्त रहेंगे. किसी पुराने मित्र से मुलाकात होगी. सप्ताह के अंत में मानसिक चिंता से राहत मिलेगी. नए कार्यों को प्रारम्भ करने के लिए स्थिति आपके लिए अनुकूल नही है. नौकरी करने वाले जातकों को वरिष्ठ अधिकारी के सहयोग से पोजीशन में सुधार होगा.
    उपाय- पारिवारिक व सामाजिक मान-सम्मान के लिए आप मंगलवार को हनुमान मंदिर जाएं और 15 दिन लगातार हनुमान चालीसा का पाठ करें
    प्रेम- सप्ताह का आरंभ आपके लिए प्रेम संबंधों में प्रियतम के साथ कुछ हसीन पलों को जीने का अवसर मिल जाएगा. साथी से प्रेम के किसी नए अनुभव से आप भ्रम में आ सकते है, इसलिए किसी भी प्रकार के संशय से अपने को बचा के रखें. जिनका विवाह अभी नहीं हुआ है वे साथी के साथ कुछ प्रतिकूल व्यवहार अनुभव भी कर सकते हैं. इस संबंध में किसी से चर्चा ना करें. कुल मिलाकर छोटी-मोटी तकरार के साथ-साथ यह सप्ताह व्यतीत होगा.
    व्यापार- इस सप्ताह आप कारोबार को एकजुट करने में आगे सफल रहेंगे. नए लोगों से आप का मेलजोल व्यवसाय की दृष्टि से लाभकारी सिद्ध होगा. आप आर्थिक खर्च पर काफी नियंत्रण रख सकते हैं. दूरगामी लाभ के साथ आपको निकट के फायदे के लिए किसी योजना को लागु करने में कुछ विशेष समस्या का सामना करना पड़ सकता है. किसी से सहयोग लिए बिना कोई कार्य की स्थिति अभी नहीं है, अतः सोच समझकर आगे कदम रखने की चुनौती ख़त्म नहीं होगी.
    उपाय- हर मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ करें.
    नित्य उपासना- मंगल तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम: .

    धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
    इस सप्ताह आप सरकारी कार्यों से प्रसंशा प्राप्त करेंगे. रिश्तेदारों से नया रिश्ता आपके जीवन में एक परिवर्तन ला सकता है. नौकरी में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ निरंतर सम्पर्क आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा. नौकरी में प्रगति के संकेत हैं. आपके काम को गंभीरता से सराहा जाएगा. किसी निकट के व्यक्ति के साथ अनहोनी हो सकती है. सप्ताह के मध्य तक आप अपने अनसुलझे कार्य अब सहजता से सुलझ जाएंगे. स्वास्थ्य कुल मिलाकर उत्तम बना रहेगा. कार्यस्थान में कुछ बदलाव की वजह से आप आर्थिक पक्ष पर ध्यान नहीं दे पा रहे है, किन्तु सहयोगियों से आपको अनुकूल परिणाम मिलेगा. संतान की प्रगति संतोषजनक रहने से आपको मन ही मन उत्साह रहेगा।
    उपाय- बृहस्पतिवार का व्रत करें – गुरुवार को गीता पाठ करें – मंदिर में चने की दाल का दान करें.
    प्रेम- इस सप्ताह में प्रेम संबंध से जुड़े मामलों के लिए यह सप्ताह अधिक अनुकूल नजर नहीं आ रहा है. इस दौरान प्रियतम के साथ किसी बात को लेकर विवाद की स्थिति बन सकती है. समझौते करने में आप पहल कर सकते हैं. अपनी बात मनवाने के लिए कभी भी उत्तेजित न हो. प्रेम संबंधों को मजबूत करने की दिशा में आप निकट के व्यक्ति की सहायता के साथ संतुलन बनाने में सफल रहेंगे.
    व्यापार- इस सप्ताह आप लाभ के लिए नयी कार्य पद्धति पर विचार करेंगे. किसी नए व्यक्ति से सीधे आप सम्पर्क ना करें. सप्ताह के मध्य में आप वित्तीय लेनदेन के विवाद का समाधान ढूंढ लेंगे. किन्तु सप्ताह का अंत आप किसी नयी समस्या को निपटाने में व्यतीत करेंगे. पूर्व दिशा से अशुभ समाचार मिलेंगे. किसी को उधार रकम ना दें.
    उपाय- सोना धारण करें, और गुरूवार को हल्दी का दान करें. गीता के 16 अध्याय का स्वाध्याय करें.
    नित्य उपासना- केतु तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ स्रां स्रीं स्रों स: केतवे नम:

    मकर- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
    इस सप्ताह आप काम में पूरी ईमानदारी और निष्ठा रखने के बाद भी बदनामी से ग्रसित रहेंगे. आपको नया कुछ सीखने का अवसर मिलेगा. आपके परिवार और आपके आर्थिक लाभ सुरक्षित है. किन्तु संतान की ओर से कोई चौकाने वाला तथ्य आपके सामने आएगा. इस सप्ताह घर के आर्थिक बजट को आप आसानी से निपटा लेंगे. मित्रों के सहयोग से कोई बड़ा काम आपके जिम्मे आएगा. सप्ताह मित्रों व परिवार के साथ आनंदपूर्वक गुजरेगा. सप्ताह अंत तक ऑफिस से कुछ नवीन बातों को लेकर व्यस्तता बनी रहेगी. छात्रों को नयी योजनाओं में रूचि होगी.
    उपाय- शनिवार के दिन काले कपड़े पहनने से बचें. शनिवार को पीपल के पेड़ में जल डालें और इसके नीचे सरसों तेल का दीपक जलाएं. हनुमान चालीसा का पाठ करें.
    प्रेम- आपके प्रेम प्रसंग के लिए यह सप्ताह अच्छा रहने वाला है. यदि आप विवाहित हैं तो इस सप्ताह आपके जीवनसाथी से नए तरीके से ख़ुशी प्राप्त होगी. आप घर के सम्बन्ध में लाभ मिलने की प्रबल संभावना है, जिससे आपके दाम्पत्य जीवन में मधुरता बढ़ेगी. सप्ताह भर में मनोरंजन, यात्रा, और भोज आदि में रूचि रहेगी.
    व्यापार- इस सप्ताह धन लाभ के साथ अच्छी साख को कायम रखने में आप सफल रहेंगे. आप अकेले ही महत्वपूर्ण निर्णय करेंगे, जिनका सकारात्मक परिणाम आपको मिलेगा. किसी बैंक के विवाद से आप नयी युक्ति निकालने में सफल रहेंगे. कारोबारी मित्रों से सम्बन्ध मजबूत रहेंगे.
    उपाय- मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की उपासना करें.
    नित्य उपासना- शनि तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिश्चराय नम:

    कुंभ- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
    इस सप्ताह आप पति-पत्नी के संबंधों में तनाव कुछ कम होगा. किन्तु आपके परिवार के माहौल में शान्ति बनी रहेगी. आप नौकरी के कार्यों में सफलता के साथ नए आत्मविश्वास को अनुभव करेंगे. आपकी वाणी में कलात्मक अंदाज से मित्रों का व बुजर्ग जनों का सहयोग प्राप्त होगा. आध्यात्मिक चर्चाओं से व सामाजिक कार्यों से आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी. विद्यार्थियों के लिए यह सप्ताह शुभ होगा, अध्ययन में सफलता मिलेगी. सप्ताह के अंत में अनावश्यक यात्रा का कार्यक्रम से आपको नुकसान होगा.

    उपाय- शनिवार को पीपल के पेड़ में जल डालें और परिक्रमा करें. नीलम को पूजा स्थान में रखकर शनि मंत्र का जाप करें.
    प्रेम- इस सप्ताह आप भावुकता में असहज स्थिति से अपने को अलग कर लेंगे. आप भावनाओं पर पूर्णतः अंकुश रखकर प्रेम में संतुलन बना लेंगे. शेष सप्ताह आपके प्रेम सम्बन्धों के लिए अनुकूल रहेगा. आप साथी के साथ पूरे मस्ती से समय बिता सकते हैं. सप्ताह के अंत में भ्रमण का कार्यक्रम रद्द हो सकता है. अविवाहित जातक रोमांस में सफल रहेंगे. किन्तु किसी दायित्ब को लेकर आप दुविधा में आ सकते हैं.
    व्यापार- सरकारी तंत्र से कोई परेशानी से नए सिरे से समाधान पर आगे बढेंगे. सप्ताह की शुरुतात में कुछ आंशिक सफलता होगी. पिछले नुक्सान की भरपाई के लिए उचित प्रयास होंगे. आपकी सूझबूझ व निर्णय लेनी की उचित क्षमता से आप उस घाटे को पूरा करने में सफल होंगे. काम करने के तरीके को लेकर कुछ सुधार कार्य होगा. कुल मिलाकर आप खुद को मजबूत करने के दिशा में सबका सहयोग प्राप्त करेंगे.
    उपाय- कार्यालय के पश्चिम दिशा की ओर मुख करके शनि का ध्यान करें.
    शनिवार को किसी वृद्ध भिखारी को दान करें.
    नित्य उपासना- शनि तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिश्चराय नम:

    मीन- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची
    सप्ताह का आरंभ में सतत परिश्रम के कारण शरीर में थकान, आलस, नीरसता की भावना का अनुभव करेंगे. घर के किसी सदस्य के साथ वाद-विवाद हो सकता है. ऑफिस में किसी के साथ वाद-विवाद से बचें, इससे आपकी साख को नुकसान पहुंचेगा. आप आर्थिक रूप से इस सप्ताह कुछ विशेष लाभ नहीं कर पा रहे हैं, मित्रों के साथ व्यर्थ यात्रा व धन खर्च के योग हैं. स्त्री वर्ग के साथ कुछ रचनात्मक कार्य से घर के माहौल में परिवर्तन आएगा. वृद्ध जातक स्वास्थ्य में कुछ हानि महसूस करेंगे. खेल कूद में रूचि रखने वाले जातक भी स्वास्थ्य का ध्यान रखें.
    उपाय- बृहस्पतिवार का व्रत करें – नित्य संध्या के समय गीता के 11 वे अध्याय पर चिंतन करें. किसी भी दिन मंदिर में चने की दाल का दान करें.
    प्रेम- यह सप्ताह आपके दाम्पत्य जीवन के लिए शानदार रहेगा. जो लोग पहले से प्रेम संबंधों में हैं उनके जीवन में ख़ुशियों की बहार लौटेगी और वे अपने साथी के साथ आनंद के पल व्यतीत करेंगे. एक-दूसरे को समझने में अनुकूल अवसर मिलेगा. सप्ताह के अंत में आनंद रहेगा.
    व्यापार- यह सप्ताह आपके लिए अच्छे परिणाम वाला है. आप अपने लक्ष्य को पूरा कर सकते हैं. आय के मुकाबले खर्च अधिक से आप कुछ चिंतित हो सकते हैं, किन्तु दूर गामी परिणाम से आपको अवश्य लाभ दीखता नजर आ रहा है. सप्ताह का मध्य समय बेहद अनुकूल है. सप्ताह अंत कुछ आर्थिक लाभ से उत्साहित होंगे.
    उपाय- कार्यालय के उत्तर पूर्व दिशा में मुख करके नमो भगवते वासुदेवाय – का 108 बार जाप करें. यज्ञोपवीत बदलें. गीता के 9 वे अध्याय का स्वाध्याय अवश्य करें.
    नित्य उपासना- बृहस्पति तांत्रिक मंत्र- ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम

    ज्योतिष व वास्तु सम्बन्धी किसी भी समस्या के समाधान के लिए संपर्क सूत्र .
    आचार्य मदन

    (प्रवक्ता, सर्वज्ञ शारदा पीठ, शांकर मठ, कश्मीर)
    श्रीराम आश्रम, सत्यम विहार, ऋषिकेश मार्ग, हरिद्वार.
    09911438929

Loading...