घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

41

This is the best place for the temple in the house! To get God’s grace, do such worship (20 अक्टूबर, 2018) : इस बात को हम भलिभांति जानते हैं कि घर में जब हम मंदिर के लिए वास्तु का विचार करते हैं तो निश्चित रूप से हमारा ध्यान उत्तर और पूर्व की दिशा की तरफ जाता है, इस दिशा को ‘ईशान कोण’ कहा जाता है. वास्तु के अनुसार घर में मंदिर के लिए यह सबसे शुभ और पवित्र दिशा होती है. ईशान कोण में ही मंदिर क्यों होना चाहिए और मंदिर में पूजा करते समय किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए. आइए जानते हैं इसके बारे में…

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

घर में ईशान खिड़की से बढ़ जाती है शुभता

वस्तु के अनुसार ईशान कोण में बने पूजा घर की शुभता और भी अधिक तब बढ़ती है जब पूजाघर के पास इसी दिशा में एक खिड़की बनवा दी जाए. दरअसल, ईशान कोण में बनी खिड़की शुभ और चुंबकीय विकिरणों के रूप में देवताओं का प्रवेशद्वार होती है.

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

घर में मंदिर ईशान कोण में हो

ईशान कोण में स्थापित किया गया घर में मंदिर सबसे ज्यादा शुभ होता है क्योंकि इस दिशा के अधिपति बृहस्पति हैं. उनके तत्वगत स्वभाव के अनुरुप आध्यात्मिक ऊर्जा का संचार सबसे ज्यादा होता है। नतीजतन इस दिशा में बैठकर पूजा करने से र्इश्वर के प्रति ध्यान और समर्पण पूरी तरह से होता है.

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

मंदिर सीढ़ी के नीचे न हो 

घर में मंदिर बनवाते समय यह विशेष ध्यान रखना चाहिए कि मंदिर कभी भी किसी सीढ़ी के नीचे न हो. इसके अलावा आपका पूजाघर किसी शौचालय या बाथरूम के आसपास भी नहीं होना चाहिए.

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

भगवान की मूर्ति को इस दिशा में रखें

जिस तरह मंदिर का विशेष ध्यान रखना होता है ठीक उसी प्रकार पूजाघर में भगवान की मूर्ति स्थापित करते समय हमेशा दिशा का विशेष ध्यान रखना चाहिए. पूजाघर में देवी-देवताओं की मूर्ति की पीठ हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में रखें, जिससे जब आप पूजा करने बैठें तो आपका मुख पूर्व या उत्तर दिशा की ओर रहे.

यह भी पढ़े : जिन लोगों में होती हैं ये गंदी आदतें! उनके घर नहीं रूकती माता लक्ष्मी

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

मूर्तियां को दीवारों से सटाकर न रखें 

पूजाघर में देवी-देवताओं की मूर्तियों को कभी भी दीवारों से सटाकर न रखें. मूर्तियां हमेशा मंदिर की दीवार से 2 फिट की दूरी पर रखें। साथ ही खुद भी दीवार से सटकर पूजा न करें.

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

क्यों जरूरी है गाय का गोबर

पूजा घर की फर्श बनवाने से पहले जमीन पर गाय के गोबर की एक परत पहले लगवाने का प्रयास करना चाहिए. विदित हो कि गाय का गोबर तमाम तरह के वास्तुदोष को दूर कर सुख-समृद्धि लाता है.

घर में मंदिर के लिए ये है सबसे अच्छा स्थान! भगवान की कृपा पाने के लिए ऐसे करें पूजा

बीम के नीचे न हो पूजाघर

मंदिर बनवाते समय विशेष ध्यान रहे कि कभी भी आपका पूजाघर बीम के नीचे न हो. साथ ही अगर आप भी बीम के नीचे बैठकर पूजा न करें. बीम के नीचे बैठकर पूजा करने से एकाग्रता भंग हो जाती है तथा पूजा का शुभफल मिलने की बजाय रोग आदि की आशंका बढ़ जाती है.

loading...