पवित्र तुलसी में छुपे स्वस्थ रहने के गुण

465

तुलसी हमारे जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। तुलसी मुख्यता दो प्रकार की होती है। श्वेत तुलसी और कृष्ण तुलसी। जिन्हें  राम तुलसी और श्याम तुलसी भी कहते हैं। वर्षो पहले से ही घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाने की परम्परा चली आ रही है । मान्यता है की घर से निकलने से पहले तुलसी के दर्शन करना शुभ माना जाता है।

tulsi in health medicine

हिन्दू स्त्रियां प्रतिदिन जल अर्पण करके तुलसी की पूजा करती हैं और सौभाग्य तथा वंश वृद्धि की कामना करती हैं। तुलसी का पौधा लगाकर हम अपने घर के दोषों से मुक्ति पा सकते हैं। इनकी पत्तियों में कीटाणु नष्ट करने का एक विशेष गुण है। इसलिये मन्दिरों में चरणोदक जल में तुलसी की पत्तियां तोड़कर डाली जाती है जिससे जल के सारे कीटाणु नष्ट हो जाये और जल शुद्ध हो जाये। कहते हैं अगर व्यक्ति तुलसी की माला से प्रतिदिन जप करे तो उसके परिवार में सुख समृद्धि आती है और महालक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

जो भी व्यक्ति सुबह के समय स्नान आदि से निवृत होकर तुलसी के नीचे दीपक जलाकर पूजन करेगा उसके दोष समाप्त हो जायेंगे। लोकोक्ति है की विष्णु प्रिया होने के कारण तुलसी विष्णु का रूप है और तुलसी की जड़ो में ब्रह्मा का निवास स्थान माना जाता है।

तुलसी न केवल धार्मिक महत्‍व रखती है, बल्कि इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी हैं। कई वैज्ञानिक शोध तुलसी में उपस्थित गुणों की पुष्टि करते हैं। इस लिए इसे दिव्य औषधि के रूप में भी माना गया है । तुलसी में थाइमोल तत्व पाया जाता है जो त्वचा के रोगों को दूर करने में कारगर है। तुलसी के पत्तो में एक चम्मच शहद मिला कर 15 दिन  पीने से अर्ध कपारी में राहत मिलती है।

श्वास सम्बन्धी रोगों के उपचार में तुलसी काफी उपयोगी है| शहद अदरक के साथ उबाल कर पीने से कफ  दमा में राहत मिलती है तुलसी किडनी को मज़बूत बनाती है। गठिया दूर करने के लिए तुलसी की जड़, पत्ते, डंठल और बीज बराबर मात्रा में लेकर कूट, छानकर पुराने गुड़ के साथ मिला लें और बकरी के दूध के साथ सुबह-शाम सेवन करें। तुलसी का अर्क शहद में मिला कर 6 महीने तक पीने से पथरी यूरीन मार्ग से निकल जाती है इसकी पत्तियां रोज़ चबाने से मुंह का संक्रमण दूर होता है। । जलने पर तुलसी का रस व नारियल तेल फेंटकर लगाने से जलन दूर होगी, जख्‍म भी ठीक होंगे और उनके निशान भी धूमिल हो जाते है।

चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए तथा झाँई व मुहाँसे के दाग मिटाने के लिए तुलसी के पत्तों को पीसकर उबटन करें। इसके साथ ही कीड़े-मकौड़े काटने पर, गर्मी में लू लगने पर तथा रक्त शुद्धि के लिए भी तुलसी काफी उपयोगी है। इस लिए तुलसी का पौधा अपने घर में अवश्य लगाना चाहिए। ताकि घर में सुख समृद्धि तो बनी ही रहे और शरीर को भी स्वस्थ रखा जा सके |

loading...