मोदी राज में ‘Make In India’ के तहत भारत रचने जा रहा है ये बड़ा इतिहास! जिसकी विश्वभर में हो रही है प्रशंसा…

390

India is going to create big history under Make In India! Whose praise is happening around the world (सिंगापुर) : अभी-अभी ‘भारत’ के लिए एक अच्छी खबर आई है. जो भारत के लिए गर्व की बात है. सूत्रों की माने तो मंगलवार 14 मई से अंतर्राष्ट्रीय नौसिखिया अभ्यास प्रदर्शनी एशिया’ (आईएमडीईएक्स एशिया-2019) यहां शुरू हो गया है. इसमें भारत के भी अधिकारी शामिल हो रहे हैं.

Make In India के तहत भारत रचने जा रहा है ये बड़ा इतिहास! जिसकी विश्वभर में हो रही है प्रशंसा...

ध्यान देने वाली बात यह है कि इसमें ‘भारतीय नौसेना’ की दो युद्धपोत ‘आईएनएस कोलकाता’ और ‘आईएनएस शक्ति’ भी हिस्सा ले रही है. दूसरी तरफ क्षेत्रीय समुद्री अभ्यास करने के बाद 30 देशों के 23 युद्धपोत भी यहां उपस्थित हैं. इस कार्यक्रम के दौरान भारत के रक्षा मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि भारत इस साल दक्षिण पूर्व एशियाई और खाड़ी देशों को तय हुए ऑर्डर के हिसाब से मिसाइलों की पहली खेप एक्सपोर्ट करेगा.

सूत्रों की माने तो आईएमडीईएक्स एशिया-2019 प्रदर्शनी में भाग ले रहे ‘ब्रह्मोस एयरोस्पेस’ में HR के मुख्य महाप्रबंधक, कमोडोर ‘एस के अय्यर’ ने कहा कि पहला मिसाइल निर्यात होने के लिए पूरी तरह तैयार है, केवल सर्कार की अनुमति का इंतजार है. कई दक्षिण पूर्व एशियाई देश हमारी मिसाइल खरीदने के लिए तैयार हैं.

Make In India के तहत भारत रचने जा रहा है ये बड़ा इतिहास! जिसकी विश्वभर में हो रही है प्रशंसा...

मंगलवार 14 मई को ‘एस के अय्यर’ ने यहां शुरू हुए तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय समुद्री सम्मेलन के दौरान कहा कि ‘यह हमारा पहला निर्यात होगा और हमारी मिसाइलों के प्रति खाड़ी देशों में रुचि बढ़ रही है.’

यह भी पढ़े : अमेरिका ने सिर्फ भारत को दिया ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान!

कहा जा रहा है कि भारत अपने रक्षा क्षेत्र के लिए दक्षिण पूर्व एशियाई और खाड़ी देशों को निर्यात में एक अच्छा अवसर के तौर पर देख रहा है. सूत्रों की माने तो भारत-रूस संयुक्त उद्यम ‘ब्रह्मोस’ और रक्षा कंपनी ‘एलएंडटी डिफेंस ऑफ लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड’ दक्षिण पूर्व एशियाई बाजारों के लिए IMDEX में रक्षा उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला की प्रदर्शनी कर रही है.

Make In India के तहत भारत रचने जा रहा है ये बड़ा इतिहास! जिसकी विश्वभर में हो रही है प्रशंसा...

सूत्रों की माने तो IMDEX 2019 प्रदर्शनी में 236 से अधिक रक्षा कंपनियां हिस्सा ले रही हैं. 10,500 से अधिक प्रतिनिधि और व्यापार दर्शक भी इस कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं. नौसेना रक्षा क्षेत्र के 400 से अधिक प्रतिनिधि अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सुरक्षा सम्मेलन में भाग ले रहे हैं.

loading...