इतिहास रचने को तैयार भारत! मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला…

38

India ready to make history! Modi Government took a bold decision for Gaganayan project (नयी दिल्ली) : सूत्रों की माने तो ‘भारत’ बहुत जल्द इतिहास रचने जा रहा है. शुक्रवार 28 दिसंबर को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ‘गगनयान परियोजना’ को अनुमति दे दी है. इस योजना के तहत तीन सदस्यीय दल को कम से कम सात दिनों के लिए अंतरिक्ष की यात्रा पर जाएंगे.

इतिहास रचने को तैयार भारत! मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला...

संवाददाता सम्मेलन में इस बात की सुचना केंद्रीय मंत्री ‘रविशंकर प्रसाद’ ने देते हुए कहा है कि ने  इस परियोजना पर 10 हजार करोड़ की लागत आएगी.

सूत्रों की माने तो ‘स्वतंत्रता दिवस’ के दौरान प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ ने अपने भाषण में ‘गगनयान परियोजना’ का ऐलान करते हुए कहा था कि इस परियोजना को 2022 तक अमल में लाया जाएगा. इस महत्वाकांक्षी परियोजना में मदद के लिए भारत ने पहले ही ‘रूस’ और ‘फ्रांस’ के साथ समझौते किए हैं.

यह भी पढ़े : इसरो ने किया अब तक के सबसे शक्तिशाली रॉकेट का सफल परिक्षण!

ध्यान देने वाली बात यह है कि अगर यह मिशन सफल हो गया तो अंतरिक्ष पर मानव मिशन भेजने वाला भारत दुनिया का चौथा देश बन जाएगा. पीएम मोदी ने कहा था कि यह मिशन 2022 तक पूरा होगा.

इतिहास रचने को तैयार भारत! मोदी सरकार ने लिया ये धमाकेदार फैसला...
रविशंकर प्रसाद

आपको इस बात से अवगत करा दें कि हाल ही में ‘भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन’ (इसरो) ने एक एस्केप मॉड्युल यानी कैप्सुल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था, जिसे अंतरिक्ष यात्री अपने साथ ले जा सकेंगे. अंतरिक्ष यात्री दुर्घटना होने पर कैप्सुल में सवार होकर पृथ्वी की कक्षा में सुरक्षित वापस भी आ सकते हैं. इसरो ने इस मॉड्यूल का विकास खुद ही किया है.

loading...