इसरो ने चंद्रयान-2 का किया सफल परिक्षण! जिसके बाद भारत की विश्वभर में हो रही प्रशंसा…

928

ISRO successfully launched Chandrayaan-2 (नई दिल्ली) : सोमवार 22 जुलाई को ‘भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन’ (इसरो) ने दोपहर 2:43 बजे ‘चंद्रयान-2’ का सफल परिक्षण किया है. जिसके बाद भारत की विश्वभर में प्रशंसा हो रही है. इस परिक्षण के बाद इसरो चीफ ‘के सिवन’ ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि ‘चंद्रयान-2’ का प्रक्षेपण सफल रहा. यह 48वें दिन चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा.

इसरो ने चंद्रयान-2 का किया सफल परिक्षण! जिससे भारत की विश्वभर में हो रही प्रशंसा...

साथ ही ‘के सिवन’ ने कहा कि सही समय पर इसकी तकनीकी जांच की गई. उसके बाद ही ऐतिहासिक सफर पर ‘चंद्रयान-2’ सफल परिक्षण किया गया. परिक्षण के बाद ‘जीएसएलवी-एमके तृतीय-एम1’ से चंद्रयान-2 अलग होकर आगे की तरफ बढ़ रहा है.

इसके आगे उन्होंने कहा कि चंद्रयान-2 का सफल परिक्षण हमारी सोच से कही ज्यादा बेहतर रहा है. इसकी सफल लॉन्चिंग से खुशी है. ये वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत का परिणाम है, इसके लिए सभी वैज्ञानिकों को सैल्यूट है. 

इसरो ने चंद्रयान-2 का किया सफल परिक्षण! जिससे भारत की विश्वभर में हो रही प्रशंसा...

चंद्रयान-2 के सफल परिक्षण के बाद प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ और राज्यसभा अध्यक्ष व उप राष्ट्रपति ‘वेंकैया नायडू’ समेत कई लोगों ने इसरो को बधाई दी है. दूसरी तरफ इसरो को भी चंद्रयान-2 की सफल लॉन्चिंग से प्रसन्नता है.

यह भी पढ़े : अमेरिका की धरती से इसरो ने रच डाला ये बड़ा इतिहास!

पीएम मोदी ने कहा कि ‘चंद्रयान 2 का प्रक्षेपण हमारे वैज्ञानिकों और 130 करोड़ भारतीयों के विज्ञान के नए स्तरों को निर्धारित करने के संकल्प को दर्शाता है. आज हर भारतीय को गर्व है.’

इसरो ने चंद्रयान-2 का किया सफल परिक्षण! जिससे भारत की विश्वभर में हो रही प्रशंसा...

सूत्रों की माने तो चंद्रयान-2 की लंबाई 44 मीटर और वजन करीब 640 टन है. इसको ‘जियोसिंक्रोनाइज सैटेलाइट लांच व्हीकल- मार्क तृतीय’ (जीएसएलवी-एमके तृतीय-एम1) द्वारा लॉन्च किया है. इस रॉकेट को बाहुबली का नाम दिया गया है. इस रॉकेट और चंद्रयान-2 की कीमत 978 करोड़ रुपये है.

loading...