जन्मदिन पर विशेष : सुनील छेत्री भारत के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर

170

नई दिल्ली, 3 अगस्त – भारतीय फुटबॉल के अतिश्रेष्ठ फुटबॉल चैंपियन खिलाड़ी व वर्तमान कप्तान सुनील छेत्री आज अपने जीवन के 33वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं। वह भारत के लिये सर्वाधिक गोल दागने वाले फुटबॉलर हैं। टीम इंडिया के लिये 90 मैच खेलकर 50 गोल दागने का रिकॉर्ड उनके नाम है। कैरियर में विभिन्न 160 मैच खेलकर 83 गोल दागे हैं। उन्होंने अपने खेल कौशल से भारत को 2007, 2009 तथा 2012 में ‘नेहरू कप‘ का खिताब जीतने में मदद की। निश्चित रूप से वह भारत के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलरों में गिने जाते हैं।

सुनील छेत्री

सुनील छेत्री का जन्म 3 अगस्त, 1984 को सिकंदराबाद (आंध्र प्रदेश) में एक नेपाली दंपत्ति की संतान के रूप में हुआ था। पिता (के.बी. छेत्री) गोरखा फौजी जवान थे। मां (सुशीला छेत्री) तथा बहनों (साशा व सुनंदा) को नेपाल की महिला फुटबॉल टीम में खेलने का गौरव हासिल है। इसी कारण फुटबॉल के प्रति प्रेम सुनील में कूट-कूटकर भरा हुआ है। पिता के जल्दी-जल्दी ट्रांसफर होते थे, लेकिन सुनील का फुटबॉल प्रेम लगातार बढ़ता रहा। फुटबॉल के इस दीवाने ने 17 वर्ष की उम्र में दिल्ली से शुरूआत की। उसकी प्रतिभा पहचानकर एक वर्ष के भीतर ही उसे फुटबॉल के लिये गढ़ मोहन ने जगह दी। फिर जेसीटी की टीम की ओर से 48 मैच खेले व 21 गोल दागे।

भारत के लिये सुनील ने सेंटर फॉर्वड के रूप में अनेक यादगार मैच खेले हैं। 2007 में उनके दागे दो गोल से कंबोडिया के विरूद्ध वह रातों-रात स्टार फुटबॉलर बन गये थे। तीन मौकों पर (2007, 2009, 2012) उनके शानदार आलराउंडर खेल से भारत ने नेहरू कप जीता। 2008 में एफसी में तजाकिस्तान के खिलाफ 3 गोलों की वजह भारत को 27 वर्ष बाद एशिया कप में एंट्री मिली थी। विदेशों से लगातार ऑफर आये, किन्हीं कारणों से इंग्लिश प्रीमियर खेलने से वंचित रहे। सन् 2010 में केंसास सिटी में शामिल होकर मेजर लीग सॉकर (अमेरिका) में भाग लिया। वह तीसरे भारतीय फुटबॉलर थे, जिन्हें विदेशी टीम में शिरकत करने का मौका मिला।

सन् 2012 में ‘स्पोर्टिंग क्लब दी पुर्तगाल‘ की रिजर्व टीम के लिये खेले। इस अनुबंध के समाप्त होते ही बंगलुरू फुटबॉल क्लब में शामिल कर लिया। वह क्लब के वर्तमान कप्तान हैं तथा आई लीग में नंबर वन का दर्जा प्राप्त है। 2015 में ‘आई एस एल‘ के लिये मुंबई ने सर्वाधिक रकम (1.2 करोड़ रूपये) खर्च कर सुनील छेत्री को अपने लिये चुना था। उन्हें अर्जुन पुरस्कार हासिल हो चुका है तथा 2007 में एनडीटीवी ने उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द ईयर‘ चुना है था। वह चार बार ‘आइफा प्लेयर ऑफ द ईयर‘ (2007, 2011, 2012, 2014) का सम्मान पा चुके हैं। इस भारतीय श्रेष्ठ फुटबॉलर की इच्छा भारतीय फुटबॉल को उंचाईयों की ओर ले जाने की है।

सुनील छेत्री का फुटबॉल रिकॉर्ड
लीग मैचों में 127 मैच खेलकर 64 गोल बना चुके हैं। 18 कप मैचों में उनके 91 गोल हैं। जबकि महाद्वीपीय स्तर पर 15 मैचों में 8 गोल हैं। इस प्रकार उन्होंने अपने कैरियर में कुल 160 मैच खेलकर 83 गोल दागे हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 81 मैचों में उनके 45 गोल बने हैं।

भारत के लिये उनका वर्ष दर वर्ष रिकॉर्ड

वर्ष           मैच        गोल
2005         5         1
2006         1         0
2007         7         6
2008         13       8
2009         6         1
2010         6         3
2001         17       13
2012         7          3
2013         11        5
2014         2          3
2015          12       6
2016          3         1
कुल           90        50

लेखक : अशोक सूद
लेखक : अशोक सूद
loading...