अमेरिका ने सिर्फ भारत को दिया ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान! जिससे पाकिस्तान और चीन में मचा हाहाकार…

56

America will not give this powerful fighter plane to any country other than India (अमेरिका) : अभी-अभी ‘अमेरिका’ से ‘भारत’ के लिए अच्छी खबर आई है. जिसके बाद भारत के दुश्मन देशों में खलबली मच गई है. विमान बनाने वाली अमेरिका की दिग्गज कंपनी ‘लॉकहीड मार्टिन’ का कहना है कि अगर ‘भारतीय वायुसेना’ से 114 ‘एफ-21’ लड़ाकू विमान का सौदा किया, लेकिन वह किसी और देश को यह जेट नहीं बेचेगी.

भारत के अलावा किसी अन्य देश को अमेरिका नहीं देगा ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान! जिससे पाकिस्तान और चीन में मचा हाहाकार...

हालांकि इसके द्वारा कंपनी का उद्देश्य अपने अमेरिकी, यूरोपीय और रूसी प्रतिस्पर्धियों से आगे रहना है।. परंतु इस लड़ाकू विमान से ‘भारतीय नौसेना’ की ताकत में कई गुना इजाफा हो जाएगा. ध्यान देने वाली बात यह है कि इस लड़ाकू विमान को भारत के 60 से ज्यादा वायु सैनिक अड्डों से उड़ान भरने की क्षमता को देखते हुए तैयार किया गया है.

लॉकहीड मार्टिन के स्ट्रैटजी एंड बिजनेस डेवलपमेंट के उपाध्यक्ष ‘विवेक लाल’ ने कहा कि अगर एफ-21 का ठेका मिला, तो भारत को भी कंपनी के 165 अरब डॉलर के वैश्विक लड़ाकू विमान के कारोबार का मुनाफा होगा.

भारत के अलावा किसी अन्य देश को अमेरिका नहीं देगा ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान! जिससे पाकिस्तान और चीन में मचा हाहाकार...

इसके आगे विवेक लाल ने कहा कि हम इस सिस्टम और विन्यास को दुनिया में किसी को नहीं देंगे. यह लॉकहीड मार्टिन का महत्वपूर्ण वचन है.

यह भी पढ़े : मिशन शक्ति को लेकर भारत के समर्थन में खड़ा हुआ अमेरिका!

ध्यान देने वाली बात यह है कि बीते महीने ‘भारतीय वायुसेना’ ने 18 अरब डॉलर के 114 जेट के लिए रिक्वेस्ट फॉर इनफर्मेशन (आरएफआई) या प्रारंभिक निविदा जारी किया था. बताया जाता है कि यह हाल के वर्षों में दुनिया का सबसे बड़ा सैन्य करार होगा.

भारत के अलावा किसी अन्य देश को अमेरिका नहीं देगा ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान! जिससे पाकिस्तान और चीन में मचा हाहाकार...

एफ-21 लड़ाकू विमान की ये है खासियत

1- एफ-21 लड़ाकू विमान में अडवांस एपीजी-83 ‘एक्टिव इलेक्ट्रॉनिक्स स्कैन्ड अरेय’ (एईएसए) रडार है. जो पिछले रडार की भांति अधिक रेंज तक निगरानी करने में सक्षम है.

2- यह सटीकता के साथ अधिक लक्ष्यों को निशाना बनाकर उनपर हमला कर सकता है. इसमें ‘अडवांस इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर’ (एईड्ब्लू) सिस्टम भी शामिल है.

3- इसमें मुख्य रूप से उत्कृष्ट इंजन मैट्रिक्स, इलेक्ट्रॉनिक युद्धक तंत्र और शस्त्र वाहक क्षमता को शामिल किया गया है. जो जमीनी और हवाई हमले करने में मदद करेगा.

भारत के अलावा किसी अन्य देश को अमेरिका नहीं देगा ये शक्तिशाली लड़ाकू विमान! जिससे पाकिस्तान और चीन में मचा हाहाकार...

4- साथ ही एफ-21 लड़ाकू विमान में ऐसे सिस्टम लगे हैं जिससे पायलटों को खतरों का पता लगाने में आसानी होगी. ‘त्रिपल लॉन्चर अडैप्टर’ (टीएलए) सिस्टम से एफ-21, हवा से हवा में वार करने वाले 40 फीसदी अधिक हथियार ले जाने में सक्षम होगा.

loading...